did you see this police station who follow Empiricism of Lemon and pepper

क्या आपने देखा है नींबू-मिर्ची के टोटके वाला ये थाना, सड़क हादसों में मौत के मामले हुए कम

Published Date-27-Jan-2017 06:13:15 PM,Updated Date-27-Jan-2017, Written by- FirstIndia Correspondent

शाहपुरा (जयपुर)। हमारा देश विभिन्न परम्पराओं एवं मान्यताओं वाला देश कहा जाता है। इसके चलत यहां कई तरह की धार्मिक एवं मानसिक मान्यताओं का निर्वहन भी किया जाता है, जिसके तहत बुरी नजर से बचने के लिए लोग अक्सर अपनी दुकानों और मकानों के मुख्य द्वार के ऊपर नींबू—मिर्ची बांध देते हैं। ऐसे में आपने अब तक लोगों को अपनी दुकानों एवं मकानों के मुख्य द्वार पर नींबू—मिर्ची लगाते हुए जरूर देखा होगा, लेकिन अगर आपसे ये कहा जाए कि किसी पुलिस थाने में दुर्घटनाओं एवं अन्य मामलों में कमी लाए जाने के लिए ये टोटका अपनाया जाता है, तो शायद इस पर विश्वास करना थोड़ा मुश्किल होगा।


दरअसल, ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं?, क्योंकि बुरी नजर से बचने के लिए लोगों के साथ साथ अब पुलिस भी नींबू—मिर्ची के टोटके का सहारा लेने लगी है। जी हां, इसकी एक बानगी राजधानी जयपुर के समीप शाहपुरा पुलिस थाने में देखने मिली है, जहां थाना परिसर में नींबू—मिर्ची लटकाई गई है। दरअसल, नींबू मिर्ची का यह टोटका शाहपुरा क्षेत्र में होने वाली दुर्घटनाओं में कमी लाने एवं इलाके में शांति—व्यवस्था बनाए रखने के लिए अपनाया जा रहा है।


जानकारी के अनुसार, शाहपुरा थाना इलाके में नवम्बर माह में कुल 19 दुर्घटनाएं हुई थी। इनमें 10 जनों की मौत हुई थी, जबकि 9 लोग गंभीर रूप से घायल हुए थे। इसी प्रकार दिसम्बर माह में कुल 14 सड़क हादसे हुए, जिनमें 6 की मौत हुई थी। किसी के बताने पर शाहपुरा थाने के पुलिसकर्मियों ने नींबू—मिर्च के टोटके का सहारा लिया। अब इसे नींबू—मिर्च के टोटके का असर कहें या फिर कुछ और, जिसके चलते 15 जनवरी तक थाने में दर्ज सड़क हादसों के आंकड़ो की बात की जाए तो, एक भी मौत नहीं हुई है।


बहरहाल, गत ढ़ाई महिनों के आंकड़ों के विश्लेषण को देखकर पुलिस अधिकारी भी इस टोटके को असरदार मान रहे हैं। पुलिसकर्मियों का कहना है कि इस टोटके के बाद सड़क हादसों में कमी आई है। ऐसे में, भले ही आप इसे अंधविश्वास कहें, लेकिन सड़क हादसों में आई कमी से यही उम्मीद की जा सकती है कि इस टोटके का असर बरक़रार रहे, ताकि जलती रहे किसी की जिंदगी की लौ।

 

Jaipur Shahpura Rajasthan Police Station Accident Case Empiricism Lemon-pepper

Click below to see slide

Recommendation