Play Tv

Breaking News

बच्चों ने महज 20 मिनट में बना डाला निर्धन मजदूर के घर में शौ

बच्चों ने महज 20 मिनट में बना डाला निर्धन मजदूर के घर में शौ

13-Jul-2016 01:54:45;PM

नागौर। देशभर में चलाए जा रहे स्वच्छता अभियान को लेकर नागौर जिले के बापोड़ गांव में रहने वाले बच्चों के बीच ऐसी अलख जगी कि 20 स्कूल बच्चों ने महज 20 मिनट के अन्दर ही गांव के सबसे निर्धन व्यक्ति के घर में शौचालय बना डाला। स्वच्छ भारत मिशन के ‘निराळो नागौर‘ अभियान की यह अनूठी मिसाल पेश की है, राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय बापोड़ के छात्रों ने।


दरअसल, 'निराळो नागौर' के तहत स्थानीय विद्यालय में जागरूकता के लिए एक कार्यशाला का आयोजन किया गया था, जिसमें बताई गई बातों से गांव के ही एक दिहाड़ी मजदूर बाबूलाल डगला इतना प्रभावित हुआ कि उसने अपनी बेटियों और घर की महिलाओं को शौच के लिए बाहर नहीं भेजने की ठान ली।


बाबूलाल ने घर में शौचालय बनाने के लिए गड्ढ़ा खोदना शुरू कर दिया, मगर अपनी आर्थिक स्थित के कारण वह उस गड्डे की चिनाई को लेकर चिन्तित था। बापोड़ विद्यालय के अध्यापक श्रवण कुमार सोनी को जब इसकी जानकारी मिली तो वह एसआरजी (स्टेट रिसोर्स ग्रुप) के सदस्यों व स्कूली छात्रों के साथ बाबूलाल के घर पहुंचे। बापोड़ विद्यालय के 20 छात्रों ने मात्र 20 मिनट में बाबूलाल के घर शौचालय का गड्डा खोद डाला और एसआरजी की सदस्या पूनम जोशी ने गड्डे में ईंटों से चिनाई कर डाली।


इस वाकये से दिहाड़ी मजदूर बाबूलाल इतना प्रभावित हुआ कि उसने अपने गांव के अन्य परिवारों को भी खुले में शौच से मुक्ति दिलाने के लिए घर में ही शौचालय बनवाने के लिए प्रेरित करने का संकल्प ले लिया। गौरतलब है कि बापोड़ गांव में कुछ ही घरों में शौचालय है और अधिकतर लोग खुले में ही शौच जाते हैं। बाबूलाल के घर शौचालय बनता देख और उसके द्वारा अन्य लोगों को शौचालय बनवाने की प्रेरणा दिए जाने के चलते उसके आस पास में रहने वाले लोगों ने भी अपने घरों में शौचालय बनवाने का मन बना लिया है।

 

Related Stories

News

Poll

क्या पीएम नरेन्द्र मोदी लोकसभा आने से डर रहे हैं?

A Yes
B No

Thought of the day

इस दुनिया में असंभव कुछ भी नहीं, हम वो सब कर सकते है जो हम सोच सकते है|

और हम वो सब सोच सकते है, जो आज तक हमने नहीं सोचा|

Horoscope