BJP won in UP beacause of Muslim women

BJP को UP में बम्पर जीत दिलाने में मुस्लिम महिलाओं का हाथ!!

Published Date-18-Mar-2017 12:44:59 PM,Updated Date-18-Mar-2017, Written by- FirstIndia Correspondent

यूपी जीत के बाद हर कोई यह मान चुका है कि बीजेपी को प्रचंड बहुमत मुस्लिम महिलाओं की वजह से मिला है| तीन तलाक के मुद्दे पर बीजेपी ने महिलाओं का साथ देने का जो वादा किया है वो पूरा होने की उम्मीद थी| महिलाओं ने भी दिल खोल के वोट डाले, बीजेपी जीती लेकिन लड़ाई तो अब शुरू हुई है| अब बारी बीजेपी की है कि वो वादा पूरा करे| वो वादा जब पूरा होगा तब होगा, अभी तो राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ मुहिम में लगा हुआ है|

 

RSS के मुस्लिम राष्ट्रीय मंच ने ट्रिपल तलाक के विरोध में एक सिग्नेचर कैंपेन का आयोजन किया| इसमें 10 लाख से ज्यादा मुस्लिमों ने हिस्सा लिया| उनमें भी महिलाएं ज्यादा हैं| भले मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड इससे लाल पीला हुआ पड़ा है| संघ का मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के नेशनल कोऑर्डिनेटर मोहम्मद अफजल का कहना है कि देश में बदलाव आ रहा है| महिलाएं जाग रही हैं| सरकार ने हाथ पकड़ा है तो वो अपनी आवाज बुलंद कर रही हैं|

 

पार्टी खुद मानती हैं कि यूपी में उनकी जीत के पीछे सबसे बड़ा कारण मुस्लिम महिलाओं का वोट मिलना है| इन महिलाओं ने ट्रिपल तलाक पर पार्टी के रूख के लिए उसका समर्थन किया है| मुस्लिम महिलाएं लंबे समय से इस दमनकारी व्यवस्था को बंद करने की मांग कर रहीं हैं| इलाहाबाद पश्चिम के नए निर्वाचित विधायक और पार्टी सचिव सिद्धार्थनाथ सिंह कहते हैं- "यूपी में इस भारी जीत के पीछे मुझे लगता है तीन कारकों ने अहम रोल अदा किया|

 

  • पहला- 'उज्ज्वला योजना'| इसके तहत् पार्टी ने गरीब महिलाओं को एलपीजी सिलेंडर देने की शुरूआत की थी जिससे गांवों में महिलाओं को बहुत फायदा पहुंचा और जीवन आसान हुआ|
  • दूसरा- 'स्वच्छ भारत' कार्यक्रम के तहत हमने जो शौचालयों का निर्माण किया जिसने महिलाओं को हमारी तरफ खींचा|
  • और सबसे जरुरी रहा ट्रिपल तालाक पर हमारा रुख|"

 

एमआरएम का हस्ताक्षर अभियान अभी भी चल रहा है| संगठन ने मुस्लिम धर्म के परंपरागत रूढ़िवादी लोगों और मौलानओं को चेतावनी दी है कि इस सामाजिक समस्या को धर्म ना ही जोड़ें तो बेहतर होगा| ट्रिपल तलाक एक सामाजिक समस्या है और इसको खत्म करना सभी की जिम्मेदारी है|

 

Uttar pradesh, BJP, UP election result, Triple talaq, Muslim women, RSS, Muslim rashtriya manch

Recommendation