BJP को UP में बम्पर जीत दिलाने में मुस्लिम महिलाओं का हाथ!!

Published Date 2017/03/18 12:44, Written by- FirstIndia Correspondent

यूपी जीत के बाद हर कोई यह मान चुका है कि बीजेपी को प्रचंड बहुमत मुस्लिम महिलाओं की वजह से मिला है| तीन तलाक के मुद्दे पर बीजेपी ने महिलाओं का साथ देने का जो वादा किया है वो पूरा होने की उम्मीद थी| महिलाओं ने भी दिल खोल के वोट डाले, बीजेपी जीती लेकिन लड़ाई तो अब शुरू हुई है| अब बारी बीजेपी की है कि वो वादा पूरा करे| वो वादा जब पूरा होगा तब होगा, अभी तो राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ मुहिम में लगा हुआ है|

 

RSS के मुस्लिम राष्ट्रीय मंच ने ट्रिपल तलाक के विरोध में एक सिग्नेचर कैंपेन का आयोजन किया| इसमें 10 लाख से ज्यादा मुस्लिमों ने हिस्सा लिया| उनमें भी महिलाएं ज्यादा हैं| भले मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड इससे लाल पीला हुआ पड़ा है| संघ का मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के नेशनल कोऑर्डिनेटर मोहम्मद अफजल का कहना है कि देश में बदलाव आ रहा है| महिलाएं जाग रही हैं| सरकार ने हाथ पकड़ा है तो वो अपनी आवाज बुलंद कर रही हैं|

 

पार्टी खुद मानती हैं कि यूपी में उनकी जीत के पीछे सबसे बड़ा कारण मुस्लिम महिलाओं का वोट मिलना है| इन महिलाओं ने ट्रिपल तलाक पर पार्टी के रूख के लिए उसका समर्थन किया है| मुस्लिम महिलाएं लंबे समय से इस दमनकारी व्यवस्था को बंद करने की मांग कर रहीं हैं| इलाहाबाद पश्चिम के नए निर्वाचित विधायक और पार्टी सचिव सिद्धार्थनाथ सिंह कहते हैं- "यूपी में इस भारी जीत के पीछे मुझे लगता है तीन कारकों ने अहम रोल अदा किया|

 

  • पहला- 'उज्ज्वला योजना'| इसके तहत् पार्टी ने गरीब महिलाओं को एलपीजी सिलेंडर देने की शुरूआत की थी जिससे गांवों में महिलाओं को बहुत फायदा पहुंचा और जीवन आसान हुआ|
  • दूसरा- 'स्वच्छ भारत' कार्यक्रम के तहत हमने जो शौचालयों का निर्माण किया जिसने महिलाओं को हमारी तरफ खींचा|
  • और सबसे जरुरी रहा ट्रिपल तालाक पर हमारा रुख|"

 

एमआरएम का हस्ताक्षर अभियान अभी भी चल रहा है| संगठन ने मुस्लिम धर्म के परंपरागत रूढ़िवादी लोगों और मौलानओं को चेतावनी दी है कि इस सामाजिक समस्या को धर्म ना ही जोड़ें तो बेहतर होगा| ट्रिपल तलाक एक सामाजिक समस्या है और इसको खत्म करना सभी की जिम्मेदारी है|

 

Uttar pradesh, BJP, UP election result, Triple talaq, Muslim women, RSS, Muslim rashtriya manch

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------