Yogi adityanath become the new CM of Uttarpradesh

UP को मिला नाथ, UP के नए CM बने योगी आदित्यनाथ

Published Date-18-Mar-2017 06:32:33 PM,Updated Date-18-Mar-2017, Written by- FirstIndia Correspondent

उत्तर प्रदेश में बीजेपी की बंपर जीत के बाद अगला मुख्यमंत्री कौन होगा, इसको लेकर पार्टी आलाकमान की तलाश पूरी हो चुकी है। मोदी मैजिक के सहारे यूपी में प्रचंड बहुमत से जीतकर सत्ता में आई बीजेपी ने सीएम के नाम पर फैसला करने में एक हफ्ता लगा| काफी मीटिंगों के बाद अब योगी आदित्यनाथ के नाम पर मुहर लग गई है| हालांकि UP CM की रेस में केशव प्रसाद मौर्य, मनोज सिन्हा, राजनाथ सिंह और दिनेश शर्मा जैसे कई दमदार दावेदार भी मौजूद थे| तमाम कयासों के बाद आखिरकार योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के नाथ बन गए|

 

403 में 325 सीटों पर जीतकर प्रचंड बहुमत के साथ यूपी की सत्ता में आई बीजेपी के सामने सीएम के नाम को लेकर कोई दुविधा नहीं दिखी| कारण है बहुमत इतना बड़ा मिला कि मोदी और अमित शाह के सामने किसी के पक्ष में भी फैसले लेने की आजादी थी| सबसे बड़े दावेदार राजनाथ सिंह ने अपना नाम वापस ले लिया और इसके बाद योगी आदित्यनाथ केशव मौर्य और मनोज सिन्हा जैसे दावेदारों के पीछे छोड़ते हुए सीएम की रेस में सबसे आगे हो गए| योगी आदित्यनाथ संघ के भी करीबी माने जाते हैं|

 

गोरखपुर से सांसद योगी आदित्यनाथ गोरखनाथ मंदिर के महंत हैं और हिंदू युवा वाहिनी के संस्थापक भी हैं| लव जेहाद और राम मंदिर जैसे मुद्दों को लेकर वे अपना कट्टर रुख अक्सर दिखाते रहे हैं| हिंदू वाहिनी के जरिए आदित्यनाथ हिन्दू युवाओं को एकजुट कर सामाजिक, सांस्कृतिक और राष्ट्रवादी मुद्दों पर पूर्वांचल में माहौल अपने पक्ष में रखने में कामयाब रहे हैं| राम मंदिर निर्माण के वादे के साथ यूपी की सत्ता में आई बीजेपी के लिए योगी आदित्यनाथ की ये छवि काफी काम आ सकती है| योगी आदित्यनाथ पांच बार से लगातार गोरखपुर के सांसद रहे हैं|

 

योगी आदित्यनाथ गोरखपुर लोकसभा सीट से 2014 में तीन लाख से भी अधिक सीटों से चुनाव जीते थे| 2009 में दो लाख से भी अधिक वोटों से जीत हासिल की थी| पूर्वांचल की 60 से अधिक सीटों पर योगी आदित्यनाथ की पकड़ मानी जाती है. बाकी के दावेदार यहीं योगी से पीछे छूट गए| यूपी सीएम की रेस में शामिल अन्य दावेदारों का कोई जमीनी आधार नहीं होना भी योगी के पक्ष में गया| योगी आदित्यनाथ पूर्वांचल की 60 से अधिक विधानसभा सीटों और कई लोकसभा क्षेत्रों में असर रखते हैं| जबकि केशव प्रसाद मौर्य के खिलाफ आरोपों और मनोज सिन्हा की क्षेत्र में जमीनी पकड़ नहीं होना उनके खिलाफ गया|

 

Uttar pradesh, Yogi adityanath, UP CM, Narendra Modi, BJP, CM Race, Oath

Click below to see slide

Recommendation