Mayawati will now knock door court over disturbance in EVM

ईवीएम में गड़बड़ी के मामले को लेकर अब कोर्ट का दरवाजा खटखटाएगीं मायावती

Published Date-20-Mar-2017 04:30:29 PM,Updated Date-20-Mar-2017, Written by- FirstIndia Correspondent

लखनऊ। देश के पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में भाजपा को मिले प्रचण्ड बहुमत के बाद बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की मुखिया मायावती ने जहां ईवीएम में गड़बड़ी की बात ​कही थी, वहीं अब मायावती इस मामले को लेकर कोर्ट की शरण में जाएगीं। मायावती का कहना है कि इस मु्द्दे को लेकर वह अगले 2-3 दिनों के अंदर कोर्ट जा सकती हैं। गौरतलब है कि यूपी चुनाव परिणाम के बाद सबसे पहले मायावती ने ईवीएम में छेड़छाड़ का आरोप लगाया था। बाद में आम आदमी पार्टी ने भी चुनावों में हार का ठीकरा ईवीएम के सिर फोड़ा था।


पत्रकारों से बातचीत में मायावती ने कहा है कि उत्तर प्रदेश के चुनावों में ईवीएम के अंदर की गई गड़बड़ियों की शिकायत को लेकर 2-3 दिन के अंदर कोर्ट में याचिका दाखिल की जाएगी। इसके साथ ही उन्होंने फिर से आरोप लगाया कि यूपी में मतदान की दौरान गड़बड़ी की गई है और यह धांधली की सरकार है। उन्होंंने कहा कि यूपी चुनावों में निश्चित तौर पर बीएसपी के वोटों को ट्रांसफर किया गया है।


हाल ही में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा एवं मणिपुर में हुए विधानसभा चुनावों के 11 मार्च को घोषित किए नतीजों के बाद सबसे पहले बसपा सुप्रीमो मायावती ने ईवीएम में छेड़छाड किए जाने का आरोप लगाया था। इसके बाद अखिलेश यादव ने भी कहा था कि मायवाती के आरोपों में सच्चाई है, या नहीं, इसे कुछ दिनों के बाद बताएंगे। वहीं उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत ने भी छेड़छाड़ के आरोप लगाए थे।


हालांकि इन आरोपों को चुनाव आयोग ने सिरे से नकार दिया था। चुनाव आयोग ने साफ शब्दों में कहा था कि ईवीएम में किसी प्रकार की कोई छेड़छाड़ नहीं की जा सकती है। ईवीएम और चुनावों में शुचिता रखने के लिए टेक्निकल और प्रशासनिक स्तर पर पूरी तरह से सावधानी रखी जाती है। चुनाव आयोग ने कहा था कि जिन राजनीतिक दलों या फिर व्यक्तियों के पास इस बात के कोई सबूत हैं तो वो उसे साबित करें कि ईवीएम के साथ कैसे छेड़छाड़ हो सकती है।

 

Lacknow, Uttar Pradesh, UP Election, Election Commission, BSP, Mayawati

Recommendation