33 जिलों में बड़े स्तर पर बिजली कर्मचारियों का शक्ति प्रदर्शन 

Vikas Sharma Published Date 2018/06/21 08:12

जयपुर। बिजली कम्पनियों में निजीकरण पर रोक, तकनीकी हेल्पर्स की 2400 ग्रेड पे, स्टाफिंग पैटर्न के हिसाब से नए पदों के सृजन समेत कई मांगों को लेकर संघर्षरत बिजली कर्मचारियों ने आज जिला मुख्यालयों पर शक्ति प्रदर्शन किया। राजधानी जयपुर में हीरापुरा-पॉवर हाउस पर बिजली कर्मचारी एकत्र हुए और सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर विरोध जताया। 

राजस्थान विद्युत श्रमिक संघ के बैनर तले सभी 33 जिला मुख्यालयों पर भी कर्मचारियों ने धरना दिया और आंदोलन की आगे की रणनीति बनाई। इस मौके पर सभी सर्किलों से मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भी दिया गया। बिजली कर्मचारियों ने ऊर्जा राज्यमंत्री पुष्पेन्द्र सिंह राणावत व प्रमुख ऊर्जा सचिव पर संवादहीनता का आरोप लगाया है। इस दौरान जयपुर डिस्कॉम अध्यक्ष अमित मल्होत्रा ने बताया कि गुरुवार को आंदोलन का पहला चरण सभी जगह सफलता पूर्वक आयोजित किया गया। अगर अब भी मांगों पर क्रियान्वयन नहीं किया गया तो फिर 24 जुलाई से कर्मचारी विद्युत भवन पर अनिश्चितकालीन महापड़ाव डालेंगे। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

पूजा पाठ के बाद \'चाणक्य\' ने दिए मंत्र, कार्यकर्ताओं को जीत का पाठ पढ़ा रहे हैं शाह

28 सितंबर को जोधपुर आएंगे पीएम मोदी, तीनों सेनाओं के प्रमुखों से करेंगे संयुक्त कॉन्फ्रेंस
जलते तिरंगे से क्या है \'भगवा\' कनेक्शन ? भरतपुर में क्या महंत ने किया गाय से दुष्कर्म ?
जयपुराइट्स को जल्द मिलेगी बॉटनिकल पार्क की सौगात, द्रव्यवती प्रोजेक्ट के उद्घाटन के साथ खुलेगा पार्क
राजस्थान के चुनावी रण में राहुल गांधी 20 सितंबर को फिर आ रहे दस्तक देने
ईवीएम और वीवीपीएटी मशीनों से ही होंगे प्रदेश में चुनाव
3 साल से रोजगार के इंतजार में आवेदक, अल्पसंख्यक मामलात विभाग में निकली थी भर्ती
बिजली कर्मचारियों का महापड़ाव बना \'शक्तिस्थल\'