हत्या के राज से उठा पर्दा, परीक्षा और PTM टालने के लिए 11वीं के छात्र ने की प्रद्युम्न का मर्डर

Published Date 2017/11/08 10:59,Updated 2017/11/08 01:05, Written by- FirstIndia Correspondent

नई दिल्ली| गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुए प्रद्युम्न मर्डर केस में एक नया खुलासा हुआ है| इस केस में सीबीआई ने बड़ी कार्रवाई करते हुए इसी स्कूल में पढ़ने वाले 11वीं के एक छात्र को हिरासत में लिया है। बता दें कि हत्या के इस मामले में छात्र से हिरासत में पूछताछ की जा रही है| सीबीआई की गिरफ्त में आरोपी बस कंडक्टर अशोक कुमार पहले से ही है|

सीबीआई सूत्रों का कहना है कि आरोपी छात्र स्कूल में होने वाली परीक्षा और पैरेंट्स-टीचर मीटिंग को टालना चाहता था| इसलिए उसने इस वारदात को अंजाम दिया है| इस वारदात के संबंध में जांच के दौरान कई वैज्ञानिक सबूत भी मिले हैं| सीसीटीवी फुटेज में भी आरोपी दिखा है. सीबीआई आज दोपहर को उसे ज्यूवेनाइनल कोर्ट में पेश करेगी|

सीबीआई का कहना है कि सीसीटीवी में आरोपी चाकू ले जाते दिखाई दिया है| टॉयलेट में उसने मोबाइल पर पोर्न फिल्म देखी| उसी समय उसकी नजर प्रद्युम्न पर पड़ी| आरोपी ने प्रद्युम्न के साथ यौन शोषण का प्रयास किया, फिर चाकू से गला काटकर हत्या कर दी| आरोपी ने दोस्तों से कहा था कि वे परीक्षा की तैयारी न करें, क्योंकि स्कूल में छुट्टी होने वाली है|

आपको बता दें कि सीबीआई द्वारा हिरासत में लिए गए छात्र के पिता ने कहा कि उनका बेटा निर्दोष है| सीबीआई पहले ही उससे 4-5 बार पूछताछ कर चुकी है| यहां तक की गुरुग्राम पुलिस भी जांच के दौरान सीआरपीसी की धारा 164 के तहत उसका बयान दर्ज करा चुकी है| उनके बेटे ने ही टॉयलेट के पास स्कूल के माली को सबसे पहले देखा था|

उन्होंने कहा कि उनका बेटा रेयान स्कूल में दूसरी क्लास से पढ़ रहा है| उनके बेटे को इस मामले में फंसाया जा रहा है| सीबीआई ने उसे पूछताछ के लिए मंगलवार की रात 9 बजे बुलाया था| उसके बाद वह वापस नहीं आया है| इसके खिलाफ वह गुरुग्राम कोर्ट जाने की तैयारी कर रहे हैं| वहीं, प्रद्युम्न के पिता ने इस जानकारी से इंकार किया है|

वहीं इस वारदात के बाद सबसे पहले बस कंडक्टर अशोक कुमार को ही गुरुग्राम पुलिस ने गिरफ्तार किया था| उस वक्त आरोपी ने हत्या की बात कबूल की थी, लेकिन बाद में वह अपने बयान से पलट गया था| उसने कहा था कि दबाव में आकर उसने हत्या की बात स्वीकार की थी| इसके बाद भारी दबाव के बीच इस मामले की जांच सीबीआई को दी गई थी|

इस केस की जांच के लिए हरियाणा सरकार द्वारा गठित तीन सदस्यीय टीम ने अपनी रिपोर्ट गुड़गांव पुलिस को सौंपी थी| इस रिपोर्ट में रेयान इंटरनेशनल स्कूल की कई कमियां सामने आई थी| सबसे बड़ी बात ये कि स्कूल कैंपस में लगे सीसीटीवी कैमरे खराब मिले थे| यहां तक की स्कूल बाउंड्री वॉल टूटी हुई थी, जिससे अंदर आना-जाना बेहद आसान था|

रेयान इंटरनेशनल स्कूल के सीसीटीवी कैमरे खराब थे| ड्राइवर और कंडक्टर छात्रों के टॉयलेट का ही इस्तेमाल करते थे|स्कूल की बाउंड्री वॉल टूटी हुई थी, जिससे स्कूल के अंदर आना जाना बेहद आसान था| स्कूल में काम करने वाले कर्मचारियों का किसी भी तरह का कोई पुलिस वैरिफेकेशन नहीं हुआ था|

गौरतलब है कि रेयान इंटरनेशनल स्कूल में दूसरी क्लास में पढ़ने वाले 7 साल के छात्र प्रद्युम्न ठाकुर के साथ कुकर्म की कोशिश के बाद उसकी गला रेतकर बेरहमी से हत्या कर दी गई थी| इस मामले में बस कंडक्टर अशोक समेत तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था| आरोपी अशोक कुमार ने पहले अपना जुर्म कबूल किया था, लेकिन अब इससे इंकार कर रहा है|

स्कूल में बच्चों की सुरक्षा बहुत महत्वपूर्ण है. दिन का बड़ा हिस्सा बच्चे स्कूल में गुजारते हैं| ऐसे में उनकी सुरक्षा को लेकर सख्त कानून आना बेहद जरूरी है| घर के बाद के स्कूल को बच्चों के लिए सुरक्ष‍ित जगह मानी जाती है| स्कूल में अगर ऐसी घटनाएं होती रहीं तो स्कूल से सबका विश्वास उठ जाएगा| स्कूल प्रशासन और शिक्षकों की जिम्मेदारी तय की जानी चाहिए|

 

 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------