पाकिस्तान चुनाव में जीत की अलवर के खैरथल में मनाई खुशियां

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/07/29 10:03

अलवर। पाकिस्तान नेशनल असेंबली चुनाव जीतने वाले डॉ महेश मालानी का नाता अलवर के खैरथल कस्बे से रहा है। मालानी के कई रिश्तेदार खैरथल रहते है। जैसे ही उन्हें जीत का समाचार मिला पुष्करणा समाज के लोगों ने जीत का जश्न मनाते हुए मिठाई बांटी। मालानी के रिश्ते में चाचा लगने वाले खैरथल पुष्करणा समाज के अध्यक्ष 95 वर्षीय इंद्रमणी मपारा ने पुरानी यादें ताजा करते हुए बताया कि बेनजीर भुट्टो के परिवार से डॉ मालानी का विशेष लगाव रहा है।

भुट्टो अक्सर रक्षा बंधन पर्व पर राखी बंधवाने मालानी के यहां चल कर आती थी। मपारा ने बताया कि मालानी परिवार का पाकिस्तान में राजनीतिक कद काफी बड़ा है। डॉ महेश मालानी सिंध प्रांत में लोकप्रिय नेता है। महेश मालानी सन 2008 से 2013 तक सांसद व 2013 से 2018 सिंध प्रांत की असेम्बली में विधायक बन कर विधानसभा के स्पीकर भी रह चुके है। इससे पूर्व उनके बड़े भाई मोतीराम मालानी व जगदीश मालानी भी सांसद रह चुके है। महेश मालानी ने इस बार सिंध प्रांत के थारपारकर सीट से बिलावल भुट्टो की पार्टी पीपीपी से चुनाव लड़कर पहले हिन्दू सांसद बनने का गौरव प्राप्त किया है। विभाजन के बाद मालानी परिवार पाकिस्तान में ही रह गया था जबकि अन्य रिश्तेदार भारत मे आकर बस गए थे।
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

ट्रिपल तलाक़ के ज़रिए, सरकार का डबल अटैक | अध्यादेश मजबूरी या ज़रूरत ?

पुलिसकर्मी-अफसरों की 10 गुना तक बढ़ाई गई बीमा राशि
1st इंडिया न्यूज़ के चैनल हैड जगदीश चंद्र ने किया डांडिया महारास के पोस्टर का विमोचन
AICC चीफ राहुल गांधी कल फिर आएंगे राजस्थान, डूंगरपुर के सागवाड़ा में करेंगे जनसभा
कॉन्स्टेबल्स को प्रमोशन के साथ मिला बीमा राशि में 10 गुना इजाफे का इनाम
मुख्यमंत्री की गुड गवर्नेंस पर बट्टा लगा रहे जिम्मेदार, मंत्री के आदेश भी दरकिनार
राजस्थान में श्रमिक कल्याण की कई योजनाएं, श्रमिकों का जीवव हुआ बेहतर और खुशहाल
मिसाल बनी पालनहार योजना, सरकार मुहैया करा रही आर्थिक सहायता