पीएम नरेंद्र मोदी की ओर से दरगाह में पेश हुई चादर, अब्बास नकवी ने पेश की चादर

FirstIndia Correspondent Published Date 2017/04/01 13:57

अजमेर| अजमेर में सूफी संत ख्वाजा गरीब नवाज के सालाना उर्स के मौके पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से चादर पेश की गई। पीएम की ओर से चादर लेकर केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलात मंत्री मुख्तयार अब्बास नकवी पहुंचे दरगाह के निजाम गेट पर नकवी का दरगाह कमेटी और अंजुमन कमेटी के सदस्यों ने इस्तकबाल किया। इसके बाद कव्वालियों के साथ पीएम की चादर को नक़वी आस्ताने ले गए जहा ख़्वाजा गरीब नवाज की मजार पर पीएम मोदी की ओर से नकवी ने मखमली चादर और अकीदत के फूल पेश किये। दरगाह में देश में अमनचैन, भाईचारे, खुशहाली की दुआ मांगी गई। चादर पेश करने के बाद नकवी ने पीएम नरेंद्र मोदी का सन्देश पढ़कर सुनाया|

 

पीएम की चादर के साथ आरसीए के अध्यक्ष अमीन पठान, भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चे के पदाधिकारी और शहर भाजपा अध्यक्ष अरविन्द यादव मौजूद थे। भीड़भाड़ के बीच पीएम नरेंद्र मोदी की चादर को पेश करने में नेताओ के पसीने छूट गए। हालांकि पुलिस के माकूल इंतजाम थे। मगर उर्स की वजह से भीड़ अधिक होने से नेताओ को धक्का मुक्की का शिकार होना पड़ा। वहीं पुलिस ने भी राह बनाने के लिए आम जायरिन से धक्का मुक्की की। ख़ास बात यह भी रही कि सीएम की चादर में सत्ता में पद लेकर बैठे स्थानीय नेता नजर आए। मगर पीएम की चादर में वे सभी नदारद दिखे।

 

Narendra Modi, Ajmer, Rajasthan, Urs Fair, Ajmer Sharif Dargah, Mukhtar Abbas Naqvi

  
First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

पूजा पाठ के बाद \'चाणक्य\' ने दिए मंत्र, कार्यकर्ताओं को जीत का पाठ पढ़ा रहे हैं शाह

28 सितंबर को जोधपुर आएंगे पीएम मोदी, तीनों सेनाओं के प्रमुखों से करेंगे संयुक्त कॉन्फ्रेंस
जलते तिरंगे से क्या है \'भगवा\' कनेक्शन ? भरतपुर में क्या महंत ने किया गाय से दुष्कर्म ?
जयपुराइट्स को जल्द मिलेगी बॉटनिकल पार्क की सौगात, द्रव्यवती प्रोजेक्ट के उद्घाटन के साथ खुलेगा पार्क
राजस्थान के चुनावी रण में राहुल गांधी 20 सितंबर को फिर आ रहे दस्तक देने
ईवीएम और वीवीपीएटी मशीनों से ही होंगे प्रदेश में चुनाव
3 साल से रोजगार के इंतजार में आवेदक, अल्पसंख्यक मामलात विभाग में निकली थी भर्ती
बिजली कर्मचारियों का महापड़ाव बना \'शक्तिस्थल\'