My RSS feedhttp://www.firstindianews.comFind all News, Hindi News, Rajasthan News, India News, News in Hindi, News Headlines, Breaking News, Daily News, Hindi News Paper, Local News in firstindianews.com.com. Find India news in hindi in First India News, No.1 hindi news paper & largest hindi daily.hi-inCopyright (C) 2017 firstindianews.comविराट कोहली ने स्वीकार किया राज्यवर्धन सिंह का चैलेंजhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527089524ujyf_Virat-Kohli.jpg

नई दिल्ली। केंद्रीय खेल और सूचना प्रसारण मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कल अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो पोस्ट करते हुए बैडमिंटन स्टार साइना नेहवाल, बॉलीवुड एक्टर रितिक रोशन और भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली को चैलेंज दिया था। केंद्रीय मंत्री राठौड़ ने फिटनेस के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए एक नया प्रयोग किया है। इस वीडियो में वह देश के लोगों से फिटनेस की अपील कर रहे हैं। यह चैलेंज विश्व योग दिवस की तैयारियों के मद्देनजर किया गया है। 

राज्यवर्धन सिंह ने अपनी फिटनेस के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपनी प्रेरणा बताते हैं। वह कहते हैं कि मोदी को देखकर उनके मन में फिटनेस की भावना जाग उठती है। इसके बाद राठौर वीडियो में पुशअप्स करते दिखाई देते हैं। 

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने इस चैलेंज को स्वीकार किया है। विराट कोहली ने राज्यवर्धन सिंह राठौर के चैलेंज के जवाब में पुशअप्स करते हुए अपना एक वीडियो आज अपने ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किया है। और अपने ट्वीट में लिखा है की वो यह चैलेंज अपनी पत्नी अनुष्का शर्मा , हमारे माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी को भी देना चाहूंगा। अब देखना यह है की कौन कौन इस चैलेंज को पूरा करते हैं। विराट कोहली अपनी फिटनेस को लेकर काफी सजग है। 

http://www.firstindianews.com/news/Virat-Kohli-acknowledged-Rajyavardhan-Singh-challenge-13333381422018/05/23 08:37
ACS पीके गोयल ने UDH में लागू की मीडिया सेंसरशिप !http://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/15270878812ne1_PK-Goyal.jpg

जयपुर। क्या नगरीय विकास विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पवन कुमार गोयल ने मीडिया सेंसरशिप लागू कर दी है? क्या आगंतुकों के बहाने गोयल ने अपने विभाग में मीडिया की आजादी पर पहरा लगा दिया है ? गोयल के निर्देश पर विभाग की ओर से जारी आदेश को लेकर सचिवालय के गलियारों और मीडिया संस्थानों ने ये सवाल उठाए हैं। इस आदेश के अनुसार विभाग के लिपिक,सहायक अनुभागाधिकारी,अनुभागाधिकारी, सहायक सचिव,सलाहाकार नगर नियोजन और सलाहकार विधि के पास कोई भी आंगतुक नहीं जा सकेंगे। 

विभाग को लेकर कोई जानकारी लेनी है या कोई ज्ञापन देना है तो आंगतुक केवल संयुक्त सचिव और अतिरिक्त मुख्य सचिव के पास ही जा सकेंगे। आदेश में इन कार्मिकों को चेतावनी भी दी गई है कि इस आदेश की पालना सुनिश्चित की जाए। आदेश की पालना सुनिश्चित कराने के लिए विभाग के इन कमरों का नियमित निरीक्षण किया जाएगा। सचिवालय में इस आदेश को लेकर चर्चाओं का दौर गरम  है। कार्मिक दबी जुबान में कह रहे हैं कि यूडीएच में आज तक ही शायद कभी ऐसा ऑडर निकला हो।

http://www.firstindianews.com/news/ACS-PK-Goyal-enforces-media-censorship-in-UDH-1366417362018/05/23 07:59
जानिए क्या है निपाह वायरस का पूरा सच, बरतें ये सावधानी http://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527084673bx8v_Nipah.jpg

नई दिल्ली। सबसे पहले दुनिया में 1998 में मलेशिया के कांपुंग सुंगई निपाहह में इस वायरस से प्रभावित होने का मामला सामने आया था। जांच में सामने आया था की चमगादड़ द्वारा खाए गए फल या किसी चीज से वहां के सुअरों में ये वायरस फैला जो बाद में इंसानों तक भी पहुँच गया। उस समय इस वायरस ने कई लोगो की जान ली थी। 

भारत में केरल के कोझिकोड में शुरू हुए निपाह वायरस से अब तक जिले में 11 लोगों की मौत हो चुकी है। निपाह वायरस इसलिए सबसे ज्यादा खतरनाक  है क्योंकि इसका आज तक कोई इलाज नहीं है। इसके उपचार के लिए कई दवाइयों का इस्तेमाल होता है, लेकिन वे भी अब तक कामयाब साबित नहीं हो सकी हैं। इस वायरस से प्रभावित व्यक्ति की जान बचने की संभावना काफी कम होती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट के अनुसार निपाह वायरस चमगादड़ की एक नस्ल में प्राकृतिक रूप से पाया जाता है। चमगादड़ के द्वारा खाए गए फल, उनके अपशिष्ट जैसी चीजों के संपर्क में आने पर यह वायरस किसी भी अन्य जीव या इंसान में फ़ैल सकता है और जानलेवा बीमारी का रूप ले लेता है। 

वायरस के लक्षण और बचाव 

निपाह सबसे ज्यादा दिमाग को प्रभावित करता है। निपाह वायरस से प्रभावित व्यक्ति में बुखार, सिरदर्द, चक्कर, सोचने में दिक्कत और मानसिक भ्रम जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। ये वायरस इतना तेजी से फैलता है की 48 घंटों के अंदर ही व्यक्ति कोमा में जा सकता है। वक्त पर उपचार नहीं मिलने पर मरीज की मृत्यु भी हो सकती है। यह वायरस छूने से भी फैलता है ऐसे में मरीज से दूरी बनाए रखें। 

निपाह वायरस से बचने का एकमात्र तरीका है सही देखभाल। रिबावायरिन नामक दवाई वायरस के खिलाफ सबसे प्रभावी है।  इस वायरस से बचने के लिए फलों, खासकर खजूर खाने से बचना चाहिए। पेड़ से गिरे फलों को नहीं खाना चाहिए।  यह वायरस एक इंसान से दूसरे इंसान में फैलता है। संक्रमित जानवर खासकर सुअर को हमेशा अपने से दूर रखें। अगर आपको तेज बुखार हो तो अस्पताल जाएं। 

http://www.firstindianews.com/news/Know-what-is-the-full-truth-of-a-nipah-virus-16661809712018/05/23 07:01
निपाह वायरस के संक्रमण से मरने वालों के परिवारों को मुआवजे की घोषणा http://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527082048e4si_Nipah-Virus.jpg

तिरूवनंतपुरम। केरल सरकार ने निपाह वायरस के संक्रमण से मरने वालों के परिवारों को पांच-पांच लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की है। सरकार ने नर्स लिनी के परिवार को भी 20 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की है, जिनकी रोगी की सेवा के दौरान बुखार आने के कारण मौत हो गई थी। तिरूवनंतपुरम में राज्‍य की स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री के.के. शैलजा ने कहा है कि स्थिति नियंत्रण में है और सभी आवश्‍यक चिकित्‍सा प्रबंध किये जा रहे है। उन्‍होंने स्थिति पर नियंत्रण पाने में मदद के लिए केन्‍द्र सरकार का आभार व्यक्त किया है। 

साथ ही संयुक्त अरब अमीरात के दो व्यवसायियों ने केरल की नर्स लिनी पुथुस्सेरी के दोनों बच्चों को मदद देने की पेशकश की है। केरल के दो जिलों कोझिकोड और मलप्पुरम में निपाह वायरस के कारण 10 लोगों की मौत हो चुकी है। निपाह वायरस का संक्रमण मुख्यत: केरल में चमगादड़ों के जूठे फूलों के माध्यम से मनुष्यों में पहुंचा है।  निपाह से संक्रमित व्यक्ति में आम सक्रमण जैसे तेज बुखार, सिरदर्द, बदन दर्द और सर्दी-जुकाम जैसे ही लक्षण नजर आते हैं। 

निपाह वायरस के बारे में कहा जा रहा है कि केरल में ये वायरस पानी के कुएं, चमगादड़ के खाए फलों और ताड़ी के जरिए फैला। हाल ही में कुएं से कई मरे हुए चमगादड़ मिले थे। आशंका जताई जा रही है कि इनकी मौत निपाह वायरस के संपर्क में आने से हुई है।

http://www.firstindianews.com/news/Declaration-of-Compensation-to-Families-of-Nipah-Virus-Infected-15213286352018/05/23 06:35
RBSE 12th Result 2018 Live Update: साइंस और कॉमर्स के रिजल्ट घोषित, जानिये किसने किया टॉपhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527080217gi07_rbse.jpg

जयपुर। राजस्थान बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (RBSE) बोर्ड ने 12वीं के परिणाम घोषित कर दिए हैं। इस बार science में आशीष चौहान ने टॅाप किया है, वहीं Commerce में सवीता प्रथम रही है।

छात्र अपने बोर्ड परीणाम www.rajeduboard.rajasthan.gov.in या www.rajresults.nic.in देख सकते हैं। बता दें कि इस बार राजस्थान में कुल 12th Board की परीक्षा में 8,26,278 छात्रों ने हिस्सा लिया है, जिनमे से 4,2665 छात्र कॉमर्स, जबकि 2.5 लाख छात्र साइंस से हैं। बोर्ड ने बताया है कि इस बार कुल 5,507 परीक्षा केंद्रों पर सफलतापूर्वक परीक्षा आयोजित कराई गई थी. 

http://www.firstindianews.com/news/RBSE-12th-Result-2018-Live-Update-8818789722018/05/23 06:25
INSV तारिणी की चालक दल की 6 महिला सदस्यों ने पीएम से की मुलाकात http://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527079954uebx_PM-Modi.jpg

नई दिल्ली। भारतीय नौसेना की जाबांज महिला सैनिक पिछले साल 10 सितंबर को नाविका सागर परिक्रमा के लिए रवाना हुई थी। सोमवार को यह दल ‘आईएनएसवी तारिणी’ से समुद्र में 8 महीने (254 दिन) की यात्रा पूरी कर गोवा के तट पर लौट आईं हैं। इस पुरे दल का रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और नौसेना प्रमुख सुनील लांबा ने स्वागत किया। INSV तारिणी की चालक दल की 6 महिला सदस्यों से बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुलाकात की। प्रधानमंत्री मोदी ने देश की इन बहादुर बेटियों के साथ काफी समय व्यतीत किया और बातचीत भी की।

इस पूरी टीम की अगुवाई लेफ्टिनेंट कमांडर वर्तिका जोशी कर रही थी। इस टीम ने 254 दिन में 26 हजार समुद्री मील का सफर तय किया। प्रधानमंत्री मोदी ने इन सभी महिला कमांडरों को दुनिया के सफर का अनुभव लिखने का सुझाव भी दिया। प्रधानमंत्री के साथ मुलाकात के दौरान 6 महिला कमांडरों के साथ नौसेना प्रमुख भी थे। 

भारतीय नौसेना के इस दल ने 3 महासागर, 4 महाद्वीप और 5 देशों का सफर किया। इसमें चालक दल की सदस्य लेफ्टिनेंट कमांडर प्रतिभा जामवाल, स्वाति पी, लेफ्टिनेंट ऐश्वर्या बोड्डापति, एस विजया देवी और पायल गुप्ता शामिल थीं। भारतीय नौसेना में पिछले साल 18 फरवरी को शामिल हुए 55 फुट के आईएनएस तारिणी में यह यात्रा पूर्ण की। भारतीय नौसेना में सभी महिला चालक सदस्य द्वारा हासिल की गई यह ऐसी पहली उपलब्धि है। चालक दल ने इस दौरान फ्रेमांटले (ऑस्ट्रेलिया), लाइटिलटन (न्यूजीलैंड), पोर्ट स्टैनली (फॉकलैंड द्वीप), केप टाउन (दक्षिण अफ्रीका) और मॉरीशस में अपना पड़ाव डाला था। 

http://www.firstindianews.com/news/6-female-members-of-INSV-Tarani-crew-meeting-with-PM-14761528472018/05/23 05:46
डॉनल्ड ट्रम्प और किम जोंग उन के बीच होने वाली बैठक हो सकती है रद्द http://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527077742ng7a_Donald-Trump.jpg

वाशिंगटन। अमरीका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प ने कहा है कि उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के साथ अगले महीने होने वाली उनकी ऐतिहासिक बैठक शायद नहीं हो पाए या इसमें और देरी हो जाये। ट्रंप ने व्‍हाइट हाऊस में दक्षिण कोरिया के राष्‍ट्रपति मून जेई इन से मुलाकात के समय यह बात कही। वहीं, उत्‍तर कोरिया ने कहा है कि अगर अमरीका उस पर परमाणु हथियारों का कार्यक्रम एकतरफा ढंग से छोड़ने के लिए दबाव देता है, तो हो सकता है कि वह शिखर बैठक को रद्द कर दे। 

अमरीकी राष्ट्रपति और उत्तर कोरिया के नेता के बीच सिंगापुर में 12 जून को बातचीत प्रस्तावित है। अप्रैल में किम और मून के बीच हुई मुलाक़ात के बाद यह बैठक होनी तय थी। उत्तर कोरिया एक अच्छी भावना दिखाते हुए परमाणु परीक्षण स्थल को नष्ट करने जा रहा है लेकिन ख़राब मौसम के कारण इसमें देरी हो सकती है। उत्तर कोरिया ने पिछले सप्ताह दक्षिण कोरिया के साथ उच्च-स्तरीय बातचीत रद्द कर दी थी। दरअसल, ऐसा उसने दक्षिण कोरिया और अमेरिका के संयुक्त सैन्य अभ्यास से नाराज होकर किया था।


 

http://www.firstindianews.com/news/Donald-Trump-and-Kim-Jong-Un-have-a-meeting-between-them-canceled-17803760312018/05/23 05:25
वसुंधरा राजे की राह पर कुमारास्वामी! नहीं रहेंगे सरकारी बंगले मेंhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/15270771638t4b_hd-kumarswami-vasundhara-raje.jpg

जयपुर (योगेश शर्मा/ऐश्वर्य प्रधान)। वसुंधरा राजे की राह पर कुमारास्वामी! बात थोड़ी अचरज भरी जरूर लग सकती है, क्योंकि दोनों अलग—अलग दलों में हैं, लेकिन राह एक होने के पीछे के कारण सियासी नहीं कुछ और है। और ये कारण है आवास। कर्नाटक के नये मुख्यमंत्री एचडी कुमारास्वामी भी मुख्यमंत्री को आवंटित बैंगलुरु के सरकारी बंगले में नहीं रहेंगे, बल्कि अपने जेपी नगर स्थित आवास से ही सरकार चलायेंगे।

उल्लेखनीय है कि राजस्थान की दूसरी बार मुख्यमंत्री बनने के बाद वसुंधरा राजे ने मुख्यमंत्री को आवंटित 8 सिविल लाइंस के सरकारी बंगले में रहने के बजाय 13 नम्बर के सरकारी आवास को चुना। कुमारास्वामी बेहद आध्यात्मिक और वास्तु में विश्वास रखते हैं शायद इसलिये सरकारी आवास में रहना नहीं स्वीकारा।

किस्मत के धनी कर्नाटक जेडीएस के नेता और पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड्डा के पुत्र एचडी कुमारास्वामी आखिर मुख्यमंत्री के पद तक पहुंच ही गए। जबकि सीटों की संख्या के लिहाज से उनकी पार्टी तीसरे नम्बर पर थी, फिर भी किस्मत ने ऐसा साथ दिया कि मुख्यमंत्री का ताज उनके पास खुद चलकर आया। लिहाजा, ज्योतिष में वि़श्वास करने वाले कुमारास्वामी की आस्था अध्यात्म के प्रति और बढ़ गई और उस आवास के प्रति भी, जो उनका निजी आवास है।

यही कारण है कि मुख्यमंत्री बनने के बाद भी कुमारास्वामी बैंगलुरु के कृष्ण कृपा मार्ग स्थित मुख्यमंत्री को आवंटित बंगले कृष्णा में निवास नहीं करेंगे, बल्कि अपने बैंगलुरु के जेपी नगर स्थित निजी आवास से ही कर्नाटक की जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन सरकार को चलायेंगे।

कुमारास्वामी का यह कदम ठीक वैसा ही है, जब 2014 में राजस्थान में बीजेपी  सरकार के निर्माण और मुख्यमंत्री बनने के बाद वसुंधरा राजे ने जयपुर में मुख्यमंत्री को प्राप्त सरकारी आवास 8 सिविल लाइंस में रहने से मना कर दिया था और 13 सिविल लाइंस से ही सरकार चलाने का ऐलान किया था। ऐसे में आज भी 13 सिविल लाइंस से ही राजस्थान सरकार चल रही है। हालांकि राजे निजी आवास में नहीं रह रहीं, लेकिन आवास वो नहीं लिया, जो मुख्यमंत्री को आवंटित था।

वसुंधरा राजे और कुमारास्वामी के बीच जो समान बात है, वो है आध्यात्मिकता और ज्योतिष के प्रति लगाव। धर्मगुरुओं से मिली सीख और ज्ञान को दोनों ही नेता अपने जीवन में अपनाते हैं और किसी भी सफलता के पीछे ऊपर वाले और गुरुजनों से मिले आशीर्वाद को सर्वोपरी मानते हैं। यही कारण है कि सिलिकॉन आईटी वैली के नाम से विख्यात देश के आधुनिक विकसित राज्यों में शामिल कर्नाटक की कमान मिलने के बावजूद कुमारास्वामी परम्परावादी है। परम्पराएं ही उन्हें वसुंधरा राजे की लीक पर चलने को कहती है।

अध्यात्म और विश्वास का गहरा नाता इन दोनों राजनेताओं में झलकता है। अध्यात्म पर विश्वास ही कुमारास्वामी को किंग मेकर से किंग की कुर्सी तक ले गया। अध्यात्म पर विश्वास और धर्म के प्रति आसक्ति ही वसुंधरा राजे के सामने आने वाली हर सियासी या फिर कोई भी बाधा को दूर कर देती है।

मुख्यमंत्री आवास और सियासत :
- कुमारास्वामी चले वसुंधरा राजे की राह पर!
- मुख्यमंत्री आवास में नहीं रहेंगे कर्नाटक सीएम कुमारास्वामी।
- निजी आवास से ही चलायेंगे कर्नाटक की सरकार।
- वसुंधरा राजे भी 8सिविल लाइंस में नहीं रह रही।
- 13 सिविल लाइंस से चल रही राजस्थान सरकार।
- कर्नाटक में मुख्यमंत्री आवास को कहा जाता है 'कृष्णा'।
- पहले नाम 'कावेरी' था, जिसे सिद्धारमैया ने बदला था।
- कुमारास्वामी का निजी आवास है जेपी नगर में।
- वे वास्तु व ज्योतिष में करते है अत्यधिक विश्वास।
- वसुंधरा राजे भी अध्यात्म के प्रति गहरी आस्था।
- 13 नम्बर वैसै शुभ नहीं कहा जाता, लेकिन राजे ने मिथक तोड़ा।
- 13 नम्बर में रहकर ही उन्होंने प्रचंड बहुमत की सरकार मिली।
- कुमारास्वामी भी पूजा किये बगैर घर से नहीं निकलते।
- वसुंधरा राजे भी पूजा पाठ के प्रति गहरा लगाव।
- देव दर्शन के प्रति उनकी आस्था से सब वाकिफ।

http://www.firstindianews.com/news/hd-kumaraswamy-on-the-path-of-vasundhara-raje-not-live-in-government-bungalow-18228176982018/05/23 05:30
मद्रास उच्‍च न्‍यायालय ने स्‍टरलाइट संयंत्र के विस्‍तार पर लगाई रोक http://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527076429qr22_Madras-High-Court.jpg

तूतिकोरिन। तमिलनाडु में तूतिकोरिन में कल पुलिस गोलीबारी में 12 प्रदर्शनकारियों के मारे जाने के बाद मद्रास उच्‍च न्‍यायालय ने तमिलनाडु के तूतिकोरिन जिले में स्थित स्‍टरलाइट कारखाने के विस्‍तार पर रोक लगा दी है। मद्रास उच्‍च न्‍यायालय ने आदेश दिया है कि स्‍टरलाइट कारखाने विस्‍तार से जुड़े सभी कामकाज को तुरंत प्रभाव से रोक दिया जाना चाहिए। इस मामले में दायर एक याचिका पर सुनवाई करते हुए न्‍यायालय ने मामले की जन सुनवाई का भी आदेश दिया। साथ ही न्‍यायालय ने केन्‍द्र सरकार से इस कारखाने के विस्‍तार के लिए प्रदान की गई मंजूरी का भी ब्‍यौरा मांगा है। कोर्ट मामले की अगली सुनवाई 13 जून को करेगा।

तमिलनाडु सरकार ने इस पूरी घटना की जांच के लिए उच्‍च न्‍यायालय के सेवानिवृत्‍त न्‍यायाधीश न्‍यायमूर्ति अरूणा जगदिसन की अध्यक्षता में एक सदस्‍यीय आयोग का गठन किया है। मौके की नजाकत को देखते हुए प्रशासन ने हिंसा ग्रस्‍त क्षेत्र तुतीकोरिन में अगले 72 घंटों के लिए धारा 144 लागू कर दी है। और साथ ही बड़ी संख्‍या में पुलिस बल को तैनात किया गया है। घायल प्रदर्शनकारियों का जिस सरकारी अस्‍पताल में इलाज चल रहा है, उसके बाहर भी सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। 

जिला प्रशासन ने दस लोगों की मौत की पुष्टि की है। मृतकों में दो महिलाएं भी शामिल हैं। तूतिकोरिन में स्टरलाइट तांबा खनन कारखाना के खिलाफ स्थानीय लोगों के विरोध प्रदर्शन का कल सौवां दिन था। पर्यावरण के लिए इसे गंभीर खतरा बताते हुए स्थानीय लोग इसका विरोध कर रहे हैं।  दूसरी ओर पुलिस फायरिंग का ये मसला राजनीतिक रंग लेता दिख रहा है। वाइको ने अस्पताल पहुंचकर घायलों से मुलाकात की है, तो कमल हासन भी पीड़ितों से मिलने तूतीकोरिन पहुंचे हैं। 

http://www.firstindianews.com/news/Madras-High-Court-stops-imposing-expansion-of-Sterlite-plant-20600129402018/05/23 05:06
उत्तर प्रदेश में विधायकों के रंगदारी मामले में एसआईटी गठितhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/15270747600t35_SIT-in-UP.jpg

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में भाजपा के करीब 25 विधायकों से वाॅट्सएेप के जरिए 10 -10 लाख रुपए की रंगदारी मांगी गई है। पैसे नहीं देने पर विधायकों के परिजनों की हत्या की धमकी दी गई है। लखनऊ, सीतापुर, बुलंदशहर और शाहजहांपुर समेत विभिन्न जिलों से भाजपा विधायकों को ऐसे धमकी भरे मैसेज मिले हैं। पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर विधायकों को निश्चिंत रहने की हिदायत दी है। 

आपको बता दें कि यूपी के लगभग 11 विधायकों को दो दिन से लगातार कई  विधायकों के मोबाइल नंबर पर  दुबई के +1(903)3294240 नंबर से मैसेज भेजा गया है। मैसेज भेजने वाले ने अपना नाम अली बुदेश भाई बताया है। एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार ने बताया इस मामले में  पूरी सतर्कता बरती जा रही है और एक एसआईटी गठित कर इसकी जांच कराई जा रही है। एसआईटी में आईजी एसटीएफ अमिताभ यश के नेतृत्व में SSP एसटीएफ अभिषेक सिंह भी इसमें सदस्य बनाए गए हैं। उन्होंने बताया कि यह नंबर दुबई का है। मैसेज हिंदी में भेजा गया है, लेकिन इसमें कहीं शब्द का इस्तेमाल सही नहीं है तो कहीं वाक्य ठीक नहीं है। जैसे - सबसे पहले वाक्य में लिखा है, "हम आपसे गपशप बनाने के लिए यहां नहीं हैं।" इसी तरह एक जगह समय बीत जाने को समय उत्तीर्ण हो जाना लिखा है। मुमकिन है कि इसे किसी सॉफ्टवेयर से हिंदी में ट्रांसलेट किया गया हो। मामले की जांच क्राइम ब्रांच, एसटीएफ और साइबर क्राइम सेल को सौंपी गई है। एडीजी लॉ इन आर्डर आनंद कुमार ने ग्यारह विधायकों को ऐसे मैसेज मिलने की पुष्टि की है।

विधायकों को भेजे गए मैसज में लिखा है की,  "हम आपके साथ लंबे गपशप बनाने के लिए यहां नहीं हैं। क्या तुम मुझे नहीं जानते हो? अगर आप और आपके परिवार की सुरक्षा चाहते हैं। तीन दिन के भीतर दस लाख की व्यवस्था करें। मुझे पता है कि आप पैसे की व्यवस्था नहीं करेंगे, जब तक आप अपने परिवार से एक मृत शरीर नहीं देखते। हम आपको वादा करते हैं कि तीन दिनों के उतीर्ण होने के बाद हम आपका विश्वास पाने के लिए एक-एक करके हत्या करना शुरु कर देंगे। आपके पास केवल तीन दिन हैं। मेरा व्यक्ति आपके करीब है। समय बर्बाद मत करें।" 

जिन विधायकों को धमकी मिली है उनमें लखनऊ के उत्तरी विधानसभा से विधायक डॉ. नीरज बोरा, सीतापुर के महोली से विधायक शशांक त्रिवेदी, बुलंदशहर के डिबाई की विधायक डॉ. अनिता लोधी, शाहजहांपुर के मीरापुर कटरा के विधायक वीर विक्रम सिंह उर्फ प्रिंस शामिल हैं। मोहम्मदी विधायक लोकेंद्र प्रताप सिंह, मेहनौन विधायक विनय द्विवेदी, गोंडा विधायक प्रेम नारायण पांडेय, फरीदपुर विधायक श्याम बिहारी लाल, भोगनीपुर विधायक विनोद कटियार को भी धमकी मिली है। भाजपा के कुछ पूर्व विधायकों या संगठन से जुड़े लोगों को भी धमकी भरा मैसेज मिला है।

विधायकों के रंगदारी मामले पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने  एडीजी लाइनर आनंद कुमार को शासन में तलब कर पूरे मामले की विधिवत जांच करने के आदेश दिए हैं एवं जल्द से जल्द कानूनी  कार्रवाई करते हुए  विधायकों को सुरक्षा देने का भी बंदोबस्त करने के निर्देश दिए हैं। योगी आदित्यनाथ ने फोन पर विधायक से की।  खबर सामने आने के बाद मुख्यमंत्री ने बुलंदशहर के डिबाई की विधायक डॉ. अनिता लोधी से फोन पर बात की। योगी ने उनसे चिंता नहीं करने को कहा है। 

http://www.firstindianews.com/news/SIT-constituted-in-Uttar-Pradesh-for-the-drafting-of-legislators-17836195592018/05/23 04:47
कुमारस्वामी बने कर्नाटक के नए सीएम, शपथ ग्रहण समारोह में दिखी विपक्ष की एकजुटताhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/152707433180cw_hd-kumarswami-oath.jpg

बैंगलूरू। कनार्टक में पिछले कई दिनों से चली आ रही सियासी उठापटक का दौर आज उस वक्त जाकर थम गया, जब जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) के कुमारस्वामी ने कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की। खास बात ये रही कि मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान पूरा विपक्ष एक साथ नजर आया, जिससे विपक्ष की एकजुटता दिखाई दी। इस दौरान कांग्रेस की पूर्व अध्यक्षा सोनिया गांधी और वर्तमान अध्यक्ष राहुल गांधी भी मौजूद रहे।

इस दौरान शपथ ग्रहण समारोह में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, आंध्रप्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी बैंगलूरु पहुंचे। कुमारस्वामी ने शपथग्रहण से पहले विपक्ष के कई दिग्गज नेताओं को आमंत्रित किया है। वहीं बसपा सुप्रीमो मायावती, बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव भी बंगलूरू पहुंचे।

शपथ ग्रहण से पहले सीएम केजरीवाल, चंद्रबाबू नायडू और सीपीआई (एम) नेता सीताराम येचुरी ने की मुलाकात और इसके बाद सोनिया गांधी व राहुल गांधी भी एचडी कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में पहुंंचे। बसपा सुप्रीमो मायावती और अखिलेश यादव एचडी कुमार स्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में पहुंचे। दोनों ने हाथ हिलाकर जनता का स्वागत किया।

कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस की गठबंधन सरकार बन गई है। जेडीएस नेता और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा के बेटे एचडी कुमारस्वामी ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली है। इसके अलावा कांग्रेस नेता जी. परमेश्वर ने उप-मुख्यमंत्री (डिप्टी सीएम) की पद की शपथ ली है। कांग्रेस के ही केआर रमेश कुमार को स्पीकर बनाया गया है, जबकि डिप्टी स्पीकर जेडीएस से होगा। केआर रमेश कुमार गुरुवार को विधानसभा में कुमारस्वामी का फ्लोर टेस्ट लेंगे। सदन में बहुमत साबित होने के बाद कैबिनेट का विस्तार होगा।

इसके साथ ही कांग्रेस-जेडीएस में मंत्रियों की संख्या को लेकर भी सहमति बन गई है। कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने बताया कि मीटिंग में कैबिनेट विस्तार को लेकर चर्चा हुई। 34 मंत्रियों में से 22 कांग्रेस से होंगे। जबकि, सीएम समेत 12 मंत्री जेडीएस से होंगे। फ्लोर टेस्ट के बाद मंत्रियों के पोर्टफोलियों के बंटवारे पर फैसला लिया जाएगा।

http://www.firstindianews.com/news/hd-kumar-swami-takes-oath-of-the-new-cm-of-karnataka-8332622972018/05/23 04:41
केंद्र सरकार की योजनाओं को राज्य सरकार नहीं कर पा रही लागू- राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग अध्यक्ष http://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527073814nmso_ram-shankar-katheria.jpg

जयपुर। केंद्र सरकार की योजनाओं को लेकर आज राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष रामकिशन कठेरिया ने एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि केंद्र की योजनाओं को राज्य की सरकारे लागू नहीं कर पा रही है और इसलिए वो इस परेशानी पर पीएम मोदी को एक रिपोर्ट सौंपेगे।

दरअसल कठेरिया आज सचिवालय में एससी वर्ग से जुड़ी योजनाओं पर संज्ञान ले रहे थे। विभाग के एसीएस जेसी माहंति ने प्रजेंटेशन के जरीए कठेरिया को विभागिय रिपोर्ट पेश की। बैठक के बाद फर्स्ट इंडिया से बातचीत में कठेरिया ने कहा कि वे विभाग के कार्यों से ज्यादा खुश नहीं है। 

वहीं केंद्र सरकार की योजनाओं पर बोलते हुए कठेरिया ने ये भी माना कि सरकार की कुछ योजनाएं है जिसे प्रदेश सरकार लागू नहीं कर पा रही है। कठेरिया ने कहा कि बैंक संबंधी योजनओं को राज्य सरकार सही तरीके से लागू नहीं कर पा रही है, जिसको लेकर वे खुद रिपोर्ट पीएम को पेश करेंगे।

http://www.firstindianews.com/news/national-commission-for-scheduled-castes-Ramkishan-Katheria-statment-4553142562018/05/23 04:32
सपा के राष्ट्रीय महासचिव रमाशंकर विद्यार्थी ने दिया विवादित बयानhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527073124dm08_Ramashankar-Vidyarthi.jpg

लखनऊ। मीडिया से बातचीत करते हुए समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव रमाशंकर विद्यार्थी ने विवादित बयान दिया है। उन्होंने बताया  कि देश मे बलात्कार की आये दिन जिस तरह से घटनाएं हो रही हैं, वह अत्यंत त्रासदपूर्ण है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव रमाशंकर विद्यार्थी ने देश मे बलात्कार की बढ़ती घटनाओं के मद्देनजर नाबालिक युवक व युवतियों के मोबाइल फोन  व इंटरनेट के प्रयोग पर रोक लगाने की मांग की है। 

साथ ही समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव ने विवादित बयान देते हुए बताया कि लडकियों के अंग प्रदर्शन के कारण ही देश में बलात्कार बढ़ रहे है। सपा के राष्ट्रीय महासचिव रमाशंकर विद्यार्थी कहना है की पुरुष और औरत  को अपने शरीर के बनावट के हिसाब से कपडे पहना चाहिए। समाज में अश्लीलता और नेट पर प्रतिबन्ध लगाना होगा और लड़के लड़कियों में भाई बहन की भावना को जागृत करना होगा। 

http://www.firstindianews.com/news/SP-general-secretary-Ramashankar-Vidyarthi-gave-controversial-statement-2406602842018/05/23 04:22
डीयू के छात्र को लोहे की रॉड से पीट पीटकर किया अधमराhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527072274zroy_Road-Rage.jpg

नई दिल्ली। वेस्ट जिला एरिया में स्कूटी से जा रहे डीयू के छात्र को संकरी गली में कार सवार दबंगों ने पीट पीटकर अधमरा कर दिया। छात्र का कसूर सिर्फ इतना था कि गली में बैक होकर आ रही एक कार को साइड दे दी। नतीजतन आरोपियों ने गाली गलौज करते हुए उसे स्कूटी से खींचा और जमीन पर घसीटते हुए लोहे की रॉड से पीटा। आखिरकार वह खून से लथपथ बेहोश होकर गिर गया। इस हालत में उसे परिजन अस्पताल ले गए। हमले में छात्र के नाक की हड्डी टूट गई और सिर व गर्दन में गंभीर चोट आई है।

बावजूद इसके भारत नगर पुलिस ने इसे महज मामूली हाथापाई की धाराओं में केस दर्ज किया। चार दिन बीत जाने के बाद भी आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। दरअसल 19 वर्षीय हर्षित शर्मा उर्फ वासु परिवार के साथ अशोक विहार फेज 3, कृष्णा एंक्लेव में रहते हैं। परिवार में मां मंजू शर्मा, एक छोटा भाई व बहन हैं। पिता पवन शर्मा का कई साल पहले निधन हो गया। हर्षित डीयू से ग्रेजुएशन कर रहा हैं। इसके अलावा घर की कुछ जिम्मेदारियों को देखते हुए पढ़ाई के साथ ही पार्ट टाइम जॉब भी करता हैं। 

हर्षित शर्मा स्कूटी से सावन पार्क होते हुए घर जा रहा था। घर से महज 500 मीटर की दूरी पर डेरी से दूध खरीदा और उसके साथ वाली गली से निकलकर चल दिया। गली में थोड़ी दूर पर दो कार खड़ीं थी। जिसमें एक कार अल्टो बैक आ रही थी। संकरी गली होने की वजह से हर्षित ने बैक हो रही कार को साइड देने के लिए अपनी स्कूटी को एक तरफ खड़ा कर लिया। दूसरी कार में एक महिला बैठी थी। आरोप है कि वह जोर से चिल्लाई कि कहां से निकाल रहे हो। हर्षित का दावा है कि उसने सिर्फ इतना कहा कि मैम कार बैक होकर आ रही है उसे साइड दे रहा हूं। तभी घर के अंदर से एक शख्स आया और हर्षित से मारपीट शुरू कर दी। 

बचने की कोशिश की तो उसके साथ पांच छह लोग और आ गए। आरोपियों ने स्कूटी से खींचकर उसे सड़क पर घसीट लिया। उसके बाद जमीन पर गिरा कर लात घूंसे बरसाए। गला दबाने की कोशिश भी की गई। उनमें से एक आरोपी घर के अंदर से लोहे की रॉड लेकर आया और उसने हर्षित के ऊपर ताबड़तोड़ हमला कर दिया। हर्षित हाथ जोड़कर लोगों से मदद की गुहार लगा रहा था। हर्षित के गर्दन व सिर पर गंभीर चोट आई और नाक की हड्डी टूट गई साथ ही  खून बहने लगा। बुरी तरह हर्षित को पीटते देख आसपास के लोग बचाने आए। लोगों ने उसे बड़ी मुश्किल से बचाया। खून बहने की वजह से हर्षित घिसटते हुए आगे बढ़ा। लेकिन गली के नुक्कड़ पर लड़खड़ा कर गिर पड़ा।

घटना का पता चलने  बाद परिजन आए और अस्पताल लेकर पहुंचे। साथ ही पुलिस को भी कॉल की । कुछ देर बाद भारत नगर थाने की पुलिस पहुंची। घायल को पहले नजदीकी अस्पताल ले जाया गया। जहां से एलएनजेपी रेफर कर दिया गया। परिवार का कहना है कि नाक की हड्डी टूटने की वजह से ऑपरेशन होगा। फिलहाल हर्षित का इलाज जारी है और अगले ट्रीटमेंट तक उसे घर भेज दिया गया है। घर पर वह बेड रेस्ट पर है लेकिन रोडरेज में इतना गुस्सा और साथ ही दिल्ली पुलिस का इतना ढीला रवैया कई सवाल खड़े करता है। फिलहाल देखने वाली बात होगी कि बिना कोर्ट का सहारा लिए दिल्ली पुलिस इस मामले में दूसरी धाराएं भी जोड़ती है या नहीं।  यदि दिल्ली पुलिस सख्त धाराये  नहीं जोड़ती है तो परिवार को आखिरकार सख्त धाराएं जुड़वाने के लिए कोर्ट का ही सहारा लेना पड़ेगा। फिलहाल नार्थ-वेस्ट जिला डीसीपी ने इस मामले बोलना तो दूर मीडिया के फोन तक नही उठा रहे हैं।

http://www.firstindianews.com/news/DU-student-beaten-by-iron-rod-beaten-to-death-1274780532018/05/23 04:00
पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर बीकानेर में फूटा कांग्रेस का गुस्सा http://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/15270712083ncb_bik.jpg

बीकानेर। पेट्रोल-डीजल की बढ़ती दरों के विरोध में आज बीकानेर में कांग्रेस ने भारी विरोध प्रर्दशन किया। विपक्ष के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने जहां एक तरफ सरकार के खिलाफ बैलगाड़ी पर रैली निकाला, वहीं जिला कलेक्ट्रेट परिसर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का पूतला भी फूंका। 

कार्यकर्ताओं ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर नाराजगी जताते हुए कहा कि केंद्र और राज्य सरकार ने लोगों का जीना मुश्किल कर रखा है। हर वर्ग इस बढ़ रही मंहगाई से त्रस्त है, यदि ऐसा ही चलता रहा तो देश में लोग सड़कों पर आ जायेंगे।

इस मौके पर देहात कांग्रेस अध्यक्ष महेन्द्र गहलोत शहर कांग्रेस अध्यक्ष यशपाल गहलोत, गोपाल गहलोत सुनीता गौड़  सहित स्थानीय नेता मौजूद रहे। देहात जिला कांग्रेस अध्यक्ष महेन्द्र गहलोत ने कहा कि जनता की जेब पर केन्द्र सरकार डाका डाल रही है और उसे जनता से कोई लेना-देना नहीं है।

http://www.firstindianews.com/news/protest-against-petrol-price-hike-by-congress-in-bikaner-15438724692018/05/23 03:50
कांग्रेस ने किया पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतों को लेकर प्रदर्शनhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527070710epos_Tabu.jpg

बूंदी। देश में तेल की बढ़ती कीमतों को लेकर जहां विपक्ष को एक और बहाना मिल गया है तो वही बढ़ी तेल की कीमतों से आमजन त्रस्त है।  बढ़ती हुई पेट्रोल डीजल कीमतों को लेकर आज कांग्रेस ने बूंदी जिला मुख्यालय पर ऊंट गाड़ी लेकर प्रदर्शन किया। कांग्रेस ने पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामों का विरोध ऊंट गाड़ी चलाकर सांकेतीम रूप में किया। 

देश में डीजल व पेट्रोल की कीमतों में हो रही बढ़ोतरी को लेकर आमजन त्रस्त है। रैली में ऊंट गाड़ी शामिल की और संदेश देना चाहा कि आए दिन बढ़ती हुई  पेट्रोल डीजल की कीमतों के चलते आमजन अपने वाहनों को घर पर खड़ा करने को मजबूर हो गया है। 

आए दिन बढ़ते वाली कीमतों से पेट्रोल-डीजल लेना आमजन के लिए भारी पड़ रहा है। इसके चलते अब आम जन को बैलगाड़ी सहित ऊंट गाड़ी पर चलना पड़ सकता है। पेट्रोल डीजल की बढ़ी हुई कीमत को वापस लेने की मांग को लेकर कांग्रेस ने जिला कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन भी किया और बीजेपी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। 
 

http://www.firstindianews.com/news/Congress-has-performed-over-the-prices-of-petrol-and-diesel---21338315532018/05/23 03:46
सिस्टम की लापरवाही : जिंदा इंसान का जारी किया मृत्यु प्रमाण पत्रhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527070516f0hz_Burhanpur-Case.jpg

बुरहानपुर। बुरहानपुर के ग्राम इच्छापुर के रहने वाले किशोर को कुछ महिनों पहले बुरहानपुर के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वहां से उसे एम वाॅय हाॅस्पिटल इंदौर रैफर किया गया, जहां उसकी मौत हो गई। जब उनकी पत्नि विधवा पेंशन के लिए पंचायत पंहुची तो उसे यह कहकर लौटा दिया कि तुम्हारा पति तो जिंदा हैं, जबकि उसके पति किशोर को मरे हुए 6 माह होने को हैं। 

मृत्यु प्रमाण पत्र महिला के देवर यानि की ईश्वर को मृत बताकर मृत्यु प्रमाण पत्र जारी किया गया हैं, अब कोई भी मानने को तैयार नहीं हैं कि ईश्वर जिंदा हैं और किशोर की मौत हो चुकी हैं। ईश्वर जींदा हैं और गुजरात के सूरत में मेहनत मजदूरी कर रहा हैं। सिस्टम की कितनी बडी लापरवाही हैं कि जिंदा को मरा और मरे को जिंदा साबित करार दे रहा हैं। जिसे लेकर महिला सिधे कलेक्टर के पास पंहुची वहां से उसे जिला पंचायत सीईओ रोमानोस टोप्पों के पास भेजा गया। सीएमएचओ डी एस चौहान और जनपद सीईओ अनिल पंवार को भी बुलाया गया। 

सिस्टम की लापरवाही कितनी अजीब हो सकती हैं, इसका उदाहरण इच्छापुर पंचायत के किशोर और ईश्वर दोनों भाईयों के मृत्यु प्रमाण पत्रों को लेकर देखा जा सकता हैं। बेचारे किशोर की पत्नि पहले 6 महिनों तक पति के ईलाज के लिए भटकती रही और अब पति की मृत्यु के बाद कोई मानने को तैयार नहीं हैं कि वह विधवा हैं। जिसके कारण उसे विधवा को मिलने वाली योजनाओं का लाभ भी नहीं मिल पा रहा हैं।  ऐसे में कराहती महिला जिसके 6 बच्चे और सबसे छोटा बच्चा अभी पहली कक्षा में अध्ययनरत है तो उसका लालन पालन कैसे करे। ऐसे में महिला ने जनसुनवाई में 4 सप्ताह से चक्कर लगाने के बाद अब आत्मदाह की बात भी कह रही हैं। 
 

http://www.firstindianews.com/news/System-negligence-Death-certificate-issued-for-human-beings-3237047612018/05/23 03:06
अलर्ट : हीट वेव के साथ धूल धरी आंधी की चेतावनी जारीhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527068448dwyd_heat-wave.jpg

जयपुर। सूर्य देव के तल्ख मिजाज ने पूरे प्रदेश को एक बार फिर अपनी चपेट में ले लिया है। प्रदेश में तेज धूप और लू के थपेड़ों ने जनजीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया है। बीते कुछ दिनों में प्रदेश में लगातार बढ़ रहे तापमान ने आम आदमी की परेशानी बढ़ा दी है। वहीं मौसम विभाग की ओर से आज शाम तक हीट वेव की चेतावनी जारी की गई है। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, आज शाम तक तेज रफ्तार वाली गर्म हवाओं के साथ धूल भरी आंधी भी आ सकती है।

वहीं दूसरी ओर, प्रदेश के प्रमुख शहरों के तापमान की बात करें तो बीते कुछ दिनों में तापमान में 4 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि दर्ज की गई, जो आने वाले दिनों में और अधिक बढ़ने की संभावना है। मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो प्रदेश में कुछ दिनों तक मौसम का मिजाज शुष्क रहेगा, जिसके चलते लू के थपेड़े और गर्मी बढ़ने की संभावना है।

http://www.firstindianews.com/news/warning-release-for-dust-storm-with-heat-wave-1180797532018/05/23 03:05
तमिलनाडु  : तूतीकोरिन पुलिस गोलीबारी में 12 लोगों की मौत, घटना की जांच के लिए आयोग गठितhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527067926z6b8_Tuticorin-police-firing.jpg

तूतीकोरिन। तमिलनाडु के तूतीकोरिन में पिछले एक महीने से वेदांता की स्टरलाइट कॉपर यूनिट को बंद करने को लेकर प्रदर्शन चल रहा था। हिंसक हुए इस प्रदर्शन ने 12 लोग मारे गए। लोगों का आरोप है की इस यूनिट की वजह से क्षेत्र में भूजल प्रदूषित हो रहा है। खबरों के अनुसार लगभग 20 हजार प्रदर्शनकारी स्टरलाइट कॉपर यूनिट की तरफ बढ़ने लगे थे। और पुलिस ने लोगों की इस भीड़ को रोकने की कोशिश की तो भीड़ ने पुलिस पर पथराव कर दिया। साथ ही आगजनी भी कर दी। पुलिस ने जवाबी कार्रवाई में गोलीबारी की जिसमें 12 लोगों की जान चली गई। और करीब दो दर्जन लोग घायल हो गए। 

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई.के. पलानीस्वामी ने तूतीकोरिन जिले में पुलिस गोलीबारी की जांच के लिए एक सदस्यीय आयोग के गठन का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को दस-दस लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की। राज्य सरकार ने स्पष्ट किया है कि पुलिस को स्थिति पर नियंत्रण के लिए कार्रवाई करनी पड़ी। मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना और सहानुभूति व्यक्त की है। हाईकोर्ट के सेवानिवृत्त न्यायमूर्ति मामले की जांच करेंगे। 

पुलिस का कहना है कि मद्रास हाईकोर्ट के आदेश पर स्टरलाइट कॉपर यूनिट को सुरक्षा प्रदान करने के लिए क्षेत्र में धारा 144 लागू की गई थी। 

http://www.firstindianews.com/news/Tamilnadu-12-people-killed-in-Tuticorin-police-firing-commission-constituted-to-investigate-the-incident-6630853052018/05/23 02:33
गुर्जर आंदोलन में मारे गए लोगों को समाज ने दी श्रदांजलिhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527067851sne7_Tabu.jpg

भरतपुर। भरतपुर में आज बयाना उपखण्ड के पीलूपुरा के पास कारवारी गाँव स्थित गुर्जर शहीद स्थल पर गुर्जर नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के नेतृत्व में पंचायत का आयोजन हुआ जिसमे विगत हुए आंदोलन के दौरान मारे गए 72 गुर्जर समुदाय के लोगों को श्रदांजलि दी गयी। जिसमे क्षेत्र के लोगों ने भारी संख्या में भाग लिया।

गौरतलब है कि विगत 16 मई को गाँव अड्डा में आयोजित महापंचायत में एसबीसी में 5 प्रतिशत आरक्षण की मांग और ओबीसी के वर्गीकरण की मांग को लेकर आज आंदोलन का एलान किया था। लेकिन इसी दरमियान गुर्जर नेताओं की सरकार के साथ हुई सकारात्मक वार्ता के बाद गुर्जर नेताओं ने फिलहाल आंदोलन को स्थगित कर दिया है और सरकार द्वारा दिए गए आश्वासन का इन्तजार करने की बात कही है। 

इस अवसर पर गुर्जर नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला ने बताया की सरकार के साथ वार्ता हुई है साथ ही रोहिणी कमीशन से भी बात हुई है जिन्होंने गुर्जरों की मांग पर अमल करते हुए ओबीसी के वर्गीकरण करने की कोशिश और एसबीबी में दिए गए 1 प्रतिशत आरक्षण का लाभ देने का वायदा किया है। जिससे गुर्जर सहमत है और आगामी 28 जून को रोहिनी कमीशन का कार्यकाल समाप्त हो रहा है उससे पहले सरकार ओबीसी के वर्गीकरण की कोशिश करेगी जैसे अन्य राज्यों में हो रहा है। फिलहाल आंदोलन का दंश थमता नजर आ रहा है लेकिन जून के बाद यदि सरकार गुर्जरों की मांग पूरी नहीं कर सकी तो गुर्जर क्या कदम उठाएंगे यह देखने वाली बात होगी।
 

http://www.firstindianews.com/news/People-of-the-society-paid-tribute-to-those-killed-in-the-Gujjar-agitation.-15035655892018/05/23 02:59
अब क्रिमिनल्स के वॉइस सैम्पल ले सकेगी पुलिस, हाई कोर्ट में मिली अनुमतिhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527066941i83z_jodhpur-high-court.jpg

जोधपुर। राजस्थान हाईकोर्ट ने अपराधियों के वॉइस सैम्पल के मामले में ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए वॉइस सैम्पल लेने की अनुमति प्रदान कर दी है। संभवत: यह राजस्थान हाईकोर्ट का पहला फैसला है, जिसमें वॉइस सैम्पल की अनुमति प्रदान की गई है। जस्टिस विजय विश्नोई की अदालत ने पुलिस कमिश्नरेट की ओर से पेश की गई याचिका को स्वीकार करते हुए विक्रमजीत सिंह उर्फ विक्का के वॉइस सैम्पल की अनुमति प्रदान की है। 

गौरतलब है कि शहर में रंगदारी व फायरिंग के मामले में विक्रमजीत को गिरफ्तार किया गया था। पुलिस वॉइस सैम्पल लेना चाहती थी, लेकिन एसीजेएम कोर्ट एवं अपीलीय कोर्ट द्वारा पुलिस की याचिका को खारिज किया गया था, जिसके बाद हाईकोर्ट में याचिका पेश की गई थी।

पुलिस कमिश्नर अशोक राठौड ने अतिरिक्त महाधिवक्ता शिवकुमार व्यास के साथ कोर्ट में पेश होकर पैरवी करते हुए कहा था कि विज्ञान के साथ अपराध की तरीके बदले, लेकिन कानून नहीं बदल पाया है। ऐसे में पुलिस को वॉइस सैम्पल लेने की अनुमति प्रदान करें। वहीं बचाव पक्ष ने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट की लॉर्जर बैंच में मामला विचाराधीन है। 

हाईकोर्ट ने सभी पक्षों को सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रखा था। आज फैसला सुनाते हुए जस्टिस विश्नोई ने पुलिस को बड़ी राहत देते हुए याचिका को स्वीकार कर लिया एवं सात दिन में वॉइस सैम्पल लेने के निर्देश गये हैं। ऐसे में यह फैसला एक नजीर बनेगा और अन्य मामलों पर इसका असर देखा जायेगा।

http://www.firstindianews.com/news/high-court-grant-permission-to-take-voice-sample-of-criminals-19184436982018/05/23 02:41
जोधपुर की ऐतिहासिक छतरियां हो रही है उपेक्षा शिकारhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527066753npre_Tabu.jpg

जोधपुर। राजस्थान की सांस्कृतिक राजधानी सूर्यनगरी जोधपुर पर्यटन नगरी के रूप राष्ट्रीय ही नही बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी अपनी अनूठी पहचान रखती है। इसके साथ ही यहां की ऐतिहासिक विरासते इतनी खूबसुरत है कि खुद मुंह बोलती नजर आती है। मगर जोधपुर के कागा रोड की ऐतिहासिक छतरियां अब उपेक्षा की शिकार होती नजर आ रही हैं। 

जोधपुर को इतिहास ने बहुत कुछ दिया है लेकिन सही देखरेख और संरक्षण के अभाव में आज ये इतिहास समय के साथ लुप्त होता जा रहा है। जोधपुर में अरावली की तलहटी में कागा नामक स्थान पर मारवाड़ रियासत के ठिकानेदारों और सेवकों की प्राचीन छतरियां स्थित है। जिनका अपना धार्मिक और एतिहासिक महत्व है। कंटीली और जंगली झाड़ियों के बीच कला के उत्कृष्ट नमूने के रूप में ये छतरियां मारवाड़ी इतिहास का एक विशेष हिस्स्सा रहीं हैं, लेकिन रखरखाव के अभाव के चलते ज़्यादातर छतरियों में से आज मूर्तियाँ गायब हो चुकी हैं।

मगर अब इसके विकास को लेकर समाज के लोग ही आगे आने लगे है और हर रविवार को यहां श्रमदान करने के साथ ही सभी समाज के लोगो से फंड एकत्र कर इसके सौन्दर्यकरण पर खर्च करते है मगर उसके बाद भी इतना विकास इसका नही हो पा रहा है जिसके चलते समाज के लोगो ने राजस्थान सरकार से इस और ध्यान देने की मांग की है और कहा है कि पर्यटन की दृष्टि से इसको डवलप किया जाए तो यहां टूरिस्ट आएंगे और कई तरह के प्रोग्राम होने से सरकार को राजस्व का भी लाभ मिलेगा। वही पुरातत्व विभाग द्वारा इन छतरियों के रिपेयर करवाने की भी अनुमति नही दी गई है जिसके चलते पूरी तरह से यह छतरिया डेमेज भी हो चुकी है।
 

http://www.firstindianews.com/news/Historical-umbrellas-of-Jodhpur-are-being-victim-of-neglect-17114974322018/05/23 02:40
'वीरे दी वेडिंग' के म्यूज़िक लॉन्च पर जमकर थिरकीं करीना http://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/15270661217n5s_Kareena-Sonam.jpg

मुंबई। एक जून को रिलीज होने जा रही सोनम कपूर और करीना कपूर की फिल्म 'वीरे दी वेडिंग' का कल मुंबई के के एक पांच सितारा होटल में म्यूज़िक लॉन्च किया गया। जश्न के इस मौके पर सोनम कपूर, करीना कपूर ख़ान, स्वरा भास्कर समेत पूरी टीम बहुत ही उत्साहित नजर आई। शादी को लेकर कन्फ्यूज्ड लड़कियों पर केंद्रित शशांक घोष के निर्देशन में बनी यह फ़िल्म लगातार चर्चा में बनी हुई है। फ़िल्म में कपूर बहनों के अलावा स्वरा भास्कर और शिखा तलसानिया भी है। फ़िल्म के कुछ गाने पहले ही रिलीज़ हो चुके हैं जिनको लोग यू ट्यूब पर काफी पसंद भी किये जा रहे हैं। 

म्यूजिक लॉन्च के इस मौके पर फिल्म की स्टारकास्ट के अलावा सिंगर और रैपर बादशाह, नेहा कक्कड़ और  फिल्म के  म्यूजिक डायरेक्टर्स भी मौके पर मौजूद रहे। इस कार्यक्रम में प्रोड्यूसर रिया कपूर और एकता कपूर ने भी शिरकत की। इस मौके पर फिल्म की पूरी स्टारकास्ट ने जमकर डांस और मस्ती की। इस कार्यक्रम का एक वीडियो सामने आया है जिसमे करीना कपूर खान अपनी को-एक्ट्रेसेस के साथ फिल्म के पॉपुलर डांस नंबर 'तारीफां...' पर जमकर डांस कर रही हैं। स्टेज पर उनके साथ सोनम कपूर, स्वरा भास्कर, शिखा तलसानिया, प्रोड्यूसर रिया कपूर, सुमीत व्यास और सिंगर बादशाह मौजूद हैं। 

फिल्म की कहानी चार लड़कियों और उनकी दोस्ती पर केंद्रित है। यह पहला मौका है जब करीना कपूर खान और सोनम कपूर एकसाथ नजर आ रही है। इस फिल्म में स्वरा भास्कर, शिखा तलसानिया और सुमित व्यास का भी अहम रोल हैं। 

http://www.firstindianews.com/news/Stretching-on-the-music-launch-of-Veere-Di-Wedding-6828246412018/05/23 02:28
अशोक परनामी को वाट्सऐप पर 'अली बाबा' ने दी रंगदारी की धमकीhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527065685owyn_ashok-parnami-threaten.jpg

जयपुर। राजसथान भाजपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अशोक परमानी को वॉट्सऐप पर जान से मारने की धमकी मिलने के बाद जयपुर कमिश्नरेट में हड़कंप मच गया। मामले के सामने आने के बाद आनन-फानन में परनामी के घर पर जाब्ता लगा दिया गया है और पुलिस ने परनामी के घर के बाहर अस्थायी चौकी खोल दी है। साथ ही परनामी के पूरे परिवार की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। उनके पुत्र और पुत्रवधु के साथ भी पीएसओ रहेंगे। निजी आवास पर 24 घंटे 3 प्रहरी तैनात रहेंगे।

इधर, परनामी को धमकी मिलने के बाद उनकी ओर से मोतीडूंगरी थाने में रिपोर्ट दी गई है, जिस पर मोतीडूंगरी थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर मोबाइल नंबरों की जांच शुरू कर दी है। परनामी के मोबाइल पर वॉट्सऐप पर पहले मैसेज और फिर वॉयस कॉल आया, जिसमें कॉल करने वाले ने खुद को अली बाबा बुंदेल बताया और पैसों का इंतजाम करने के लिए कहा। पैसे नहीं देने पर नतीजा भुगतने की धमकी दी।

पुलिस रिपोर्ट के मुताबिक, परनामी को ऐसी धमकियां पिछले तीन दिन से मिल रही हैं। वॉयस कॉल मंगलवार को पहली बार आया। वहीं देश में भी भाजपा के नेताओं को ऐसी धमकियां मिल रही हैं। उत्तरप्रदेश में 25 विधायकों से भी वाट्सऐप के जरिये 10-10 लाख रुपए की रंगदारी मांगी गई है। पैसे नहीं देने पर परिजनों की हत्या की धमकी दी गई है।

http://www.firstindianews.com/news/ashok-parnami-gets-threaten-call-from-ali-baba-9092514122018/05/23 02:19
महापौर ने की स्वच्छ भारत अभियान में तेजी लाने के लिए लोगों से अपीलhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527065426ak9p_Tabu.jpg

जोधपुर। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गांधी जयंती पर स्वच्छ भारत अभियान की शुरूआत की थी और संकल्प दिलाया था कि 2019 तक पूरे भारत को कचरा मुक्त करना है। उसी कडी में जोधपुर नगर निगम सफाई के कार्य में जुटा हुआ है जिसमें जनता काफी सहयोग भी कर रही है। इसी सीलसीले में बात करते हुए महापौर घनश्याम ओझा ने आमजन से अपील करते हुए कहा कि सफाई ऐसी है जिसकी चर्चा पूरे विश्व में होती है हमे इसमें सभी का सहयोग मिल रहा है मगर जहां तक पहुंच पाना था वहां अभी तक नही पहुंच पाए है।

महापौर ने लोगों अपील की कि इस मुहिम को और तेजी से आगे बढाए क्योकि जितना करना है उतना नही कर पाए है। ओझा ने आमजन से कचरा को उसके निर्धारित स्थान पर डालने की अपील भी की। नगर निगम का मुख्य कार्य होता है शहर की सफाई व्यवस्था को बनाए रखना जिसको लेकर निगम काफी गंभीरता से कार्य भी कर रहा है फिर चाहे वह स्मार्ट डस्टबिन लगाने से लेकर घर-घर कचरा संग्रहण योजना ही क्यो ना हो उसके जरिए शहर को साफ और सुंदर बनाने के प्रयास में जुटा हुआ है। 

गौरतलब है कि शहर के मुख्य स्थानों पर जीएसएम सिम से जुड़े यह डस्टबिन लगाए गए है। इसकी मुख्य विशेषता यह है कि डस्टबिन के भरते ही उसमें लगी सिम के माध्यम से संबधित अधिकारी के मोबाइल पर मैसेज चला जाता है। मैसेज आते ही गाड़ी वहां पहुंचकर बिन खाली कर देती है। बेंगलूरु की कम्पनी द्वारा इस डस्टबिन का इंस्टॉलेशन किया गया है।
 

http://www.firstindianews.com/news/Mayor-appeals-to-people-to-speed-up-Swachh-Bharat-campaign-9431274082018/05/23 02:05
पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने से लोगो में आक्रोश, कांग्रेस ने साधा सरकार पर निशानाhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527064946b4p5_dun.jpg

डूंगरपुर। सरकार द्वारा पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ाए जाने पर आज शहर में आक्रोश देखा गया। डूंगरपुर में जहां एक तरफ लोगों ने सराकर के इस फैसले का विरोध किया, वहीं प्रदेश कांग्रेस ने भी बिना किसी देरी के इस मुद्दे को लपक लिया। 

पेट्रोल-डीजल की कीमतो में हुई बढ़ोत्तरी के विरोध में डूंगरपुर जिले में कांगेस कमेटी की ओर से हल्ला बोला गया, कार्यकर्ताओं ने साइकल चलाकर और पैदल मार्च द्वारा सरकार पर हमला किया। पीसीसी महासचिव शंकर यादव के नेतृत्व में कांग्रेसी नेताओ ने कलेक्ट्रेट कार्यलय के बाहर  भी पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतों के विरोध में प्रदर्शन किया| 

इस मौके पर कांग्रेसियों ने केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुआ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला भी फूंका| पीसीसी महासचिव शंकर यादव ने भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को जुमलो के अलावा जनता के पक्ष में कोई सरोकार नहीं है | आज जहां पेट्रोल-डीजल के दाम प्रतिदिन बढ़ने से  देश की जनता महंगाई की मार से जूझ रही है, वहीं जनता को राहत देने की बजाय देश के प्रधानमंत्री विदेश की यात्राओं में व्यस्त हैं|

http://www.firstindianews.com/news/protest-by-congress-against-bjp-on-the-issue-of-petrol-price-hike-12276448512018/05/23 02:09
जैसलमेर पहुंचा जहरीला पानीhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527064533bsb7_Tabu.jpg

जैसलमेर। पंजाब से निकला रसायन युक्त पानी मंगलवार के रात 12 बजे के बाद जैसलमेर में 1120 आरडी पर पहुँच गया। पानी पहुँचने से पहले आईजीएनपी और नहर विभाग ने पूरी तैयारी कर ली ताकि जहरीले पानी से किसी भी तरह की महामारी ना फैले। मंगलवार को दिनभर नहर में आने वाले रसायनयुक्त पानी की चर्चाये रही। दूसरी तरफ नहरी व जलदाय विभाग के अधिकारी भी नहर की गश्त करते रहे और रसायनयुक्त पानी का इंतजार करते रहे। हालांकि पानी का बहाव धीरे होने की वजह से मंगलवार दिन में न पहुंचकर देर रात तक पहुंचा।

किसान यदि सिंचाई के लिए इस पानी को लेने के लिए तैयार होंगे तो ठीक अन्यथा इस पानी को एस्केप में छोड़ दिया जाएगा। फिलहाल नहर विभाग ने 1365 आरडी पर बनी विशालकाय झील व एसएमजी के एस्केप में पानी छोड़ना तय किया है। नहरी अधिकारियों के अनुसार इस पानी की जांच कृषि अधिकारियों से करवा दी गई है। यह पानी कृषि के लिए नुकसानदायक नहीं है। ऐसे में नहरी विभाग का फील्ड स्टाफ नहरी काश्तकारों से बातचीत कर रहा है, हालांकि वर्तमान में सिंचाई के लिए पानी नहीं आ रहा है लेकिन यदि किसान इस रसायनयुक्त पानी को लेने के लिए तैयार होंगे तो उन्हें सिंचाई के लिए सप्लाई किया जाएगा। 

नहरी अधिकारियों के अनुसार प्राथमिक तौर पर इस केमिकलयुक्त पानी की जो रिपोर्ट तैयार हुई है उसके मुताबिक करीब 300 क्यूसेक पानी जहरीला हो चुका है। इस पानी का जिस स्पीड से फ्लो चल रहा है उसके मुताबिक करीब 10 से 12 घंटे तक जैसलमेर की नहरों में चलेगा। 300 क्यूसेक पानी छोड़ने के बाद साफ पानी आना शुरू हो जाएगा और फिर से समस्त नहरों में चला दिया जाएगा। रसायनयुक्त पानी का सबसे बड़ा नुकसान यही है कि कहीं यह पानी जलापूर्ति सिस्टम में शामिल न हो जाए। ऐसे में जलदाय विभाग ने गंभीरता बरतते हुए जैसलमेर की नहरों में केमिकलयुक्त पानी के पहुंचने से 12 घंटे पहले ही जिले की समस्त डिग्गियों में पानी संग्रहण बंद कर दिया। खासतौर पर मोहनगढ़ डिग्गी व बाड़मेर लिफ्ट के गेट बंद करके संग्रहण रोक दिया गया ताकि किसी भी सूरत में पहले से संग्रहित पानी में जहरीला पानी मिक्स न हो। 

जलदाय विभाग की केमिकल टीम ने मंगलवार को एहतियात के तौर पर मदासर व नाचना से पानी के सेम्पल लिए। इनकी लैब में जांच की गई तो पानी में किसी भी तरह की दिक्कत नहीं थी। यह सेम्पल इसलिए लिए गए कि कहीं समय से पहले रसायनयुक्त मिक्स पानी तो यहां नहीं पहुंच गया। गनीमत रही कि पानी पहुंचने से पहले ही नहरी व जलदाय विभाग ने सतर्कता बरत ली है। 

मंगलवार को जिले भर में अफवाहें भी चली कि जो पानी सप्लाई किया जा रहा है वह पीने योग्य नहीं है। लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं है। मंगलवार की रात को नहर में रसायनयुक्त पानी पहुंचा है और जलदाय विभाग ने इससे पहले ही डिग्गियों में संग्रहण बंद कर दिया। आगामी दो दिन तक संग्रहण नहीं होगा। वर्तमान में संग्रहित पानी की सप्लाई की जाएगी जिसे लेकर कोई डर नहीं है, यह पानी पूर्णतया साफ है। ऐसे में अफवाहों से बचे और शहर में सप्लाई हो रहे पानी को लेकर कोई असमंजस की स्थिति न रखें। 
 

http://www.firstindianews.com/news/Toxic-water-reached-Jaisalmer----9519646022018/05/23 02:04
रोहिणी जेल में कैदी की गर्दन दबा कर हत्याhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527064185r5wq_Rohini-Jail.jpg

नई दिल्ली। दिल्ली की रोहिणी जेल में बंद एक विचाराधीन कैदी की जेल में बंद दूसरे कैदी ने अपने कहे में काम ना करने के कारण गर्दन दबा कर हत्या कर दी। फिलहाल मृतक विचाराधीन कैदी के शव को पोस्टमार्टम के लिए रोहिणी के अंबेडकर अस्पताल में रख दिया गया है और दिल्ली पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है। साथ ही प्रोडक्शन वारंट के बाद ही दूसरे कैदी की गिरफ्तारी हो पाएगी। 

पुलिस केस दर्ज कर जांच कर रही है। साथ ही जेल वार्डर और प्रशासन से भी पूछताछ की जा रही है। पुलिस जेल में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज लेने की कोशिश कर रही है। पुलिस ने मृतक के साथ बंद तीन कैदियों को हिरासत में लिया है। जिनसे पूछताछ की जा रही है। मृतक युवक की पहचान 22 साल के पवन के रूप में हुई है। ये परिवार के साथ अमन विहार के कैलाश विहार में रहता था। परिवार में माता पिता आठ बहनें और एक भाई है। पवन के बड़े भाई विष्णु के अनुसार मंगलवार सुबह करीब साढ़े आठ बजे दो पुलिस वाले घर पर आए थे। जिन्होंने रोहिणी जेल में पवन की हत्या होने के बारे में बताया था। परिवार वाले बाबा साहेब अंबेडकर अस्पताल पहुंचे। परिवार वालों ने पवन के शव की पहचान की।

उन्होंने बताया की पवन के गले पर उंगलियों के निशान थे। उसकी आंख और शरीर के अन्य हिस्सों पर चोट के निशान थे। उनको शक है कि पवन को पहले बुरी तरह से दो से तीन कैदियों ने पीटा है। जिसके बाद उन्होंने पवन की गला घोंटकर हत्या कर दी। लेकिन हत्या में एक कैदी शामिल है या कई ये जाँच का विषय है। पवन को करीब चार माह पहले अमन विहार थाना पुलिस ने एक संदिग्ध चोरी के मामले में घर से ही गिरफ्तार किया था। पवन के पास से छैनी बरामद हुई थी। पवन बेलदारी का काम किया करता था। फिलहाल रोहिणी जिला पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है ।

http://www.firstindianews.com/news/Prisoner-neck-pressed-in-Rohini-jail-14141991442018/05/23 01:55
मौत की क्रबगाह बनी समंद गौशाला http://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527063493pwhn_Tabu.jpg

जैसलमेर। जहां एक तरफ राज्य व केन्द्र सरकार गौमाता के संरक्षण व सुरक्षा को लेकर गंभीर है तो वहीं दूसरी तरफ गौशाला संचालक गायो के अनुदान को वसुल कर उनकी सुरक्षा को लेकर कतई गंभीर नही है। जिससे इस भीषण गर्मी में गायों की मौत का सिलसिला थमने का नाम ही नही ले रहा है। हम बात कर रहे है पोकरण की समंद गोशाला के बारे में। इस गौशाला ने एक बार फिर हिंगोनियां गौशाला की याद ताजा कर दी है। इस गोशाला में गायो की मौत के बाद निर्दयी संचालक शवो के साथ भी दरिंदगी करते नजर आ रहे है । गायो के शवो को ट्रक्टरो की मदद से घसीट कर गौशाला के बाहर फैक देते है। लगातार चल रही गायो की मौत से ग्रामीण भी आहत हैं।

सरहदी जिले में अकाल की स्थिति को देखते हुए प्रति वर्ष राज्य सरकार ग्रामीण ईलाको में स्वयं सेवी संस्थाओ को अनुदान देकर गौशालाए खुलवाती है । जिससे गौमाता की सेवा व सुरक्षा की जा सके व उनको अनुदान उपलब्ध करवाकर गायो के लिए उचित चारे पानी की व्यवसथा की जा सके । लेकिन पोकरण के बारठ के गांव में समद गौशाला के नाम से संचालित होने वाली गौशाला में विचित्र मामला सामने आयो है । यह गौशाला पांच वर्षो से संचालित की जा रही है । लेकिन गायो के नाम पर करोडो का अनुदान उठाने वाली इस गौशाला के संचालक न तो समय पर गायो के लिए चारे पानी की व्यवस्था कर रहा है ना ही भीषण गर्मी के दौरान यहां पर छाया-पानी की। 

गायो की सेवा के नाम पर ठगी करने वाली गौशाला संचालक गायो का नामांकन कर करोडा रूपये का अनुदान उठाने से नही कतराते है। गोशाला में उचित व्यस्थाएं नही होने से इस भीषण गर्मी में लगातार गायो की मौते हो रही है । ग्रामीणो की माने तो यहां पर सरकार द्वारा पशुओ की दी जाने वाली सुविधा नाम मात्र की है वही गौमाता को दी जाने वाली प्रतिदिन डाईट ना तो पशुओ को दी जाती है यहां तक की कई बार तो मात्र दिखावे के लिए सेंम्पल के तोर पर कटटे लाकर रख दिये जाते है

वही गामीणो ने बताया कि पिछले महिनो से सेकडो की संख्या में छाया पानी की माकूल व्यवस्था नही होने से गायो की मौते हो रही है ।  गायो की मौत होने के बाद संचालक गायो को देर रात्री गौशाला से ट्रेक्टर की सहायता से बांध कर घसीट कर फैक देते है । वही दिन में भी बैखौफ होकर मृत गायो को घसीटकर फैका जा रहा है। ग्रामीणो का कहना है कि कई बार ज्ञापन दे कर प्रसानस को सजक करवाया गया लेकिन आज तक किसी प्राकर की कोई कार्यवाही नही हुई । तब जागरूक लोगो ने इस गौशाला के कारनामो को सामने लाने के लिए मीडिया की मदद ली । स्टींग कर विडियो उपलब्ध करवाए व सरकार से ऐसी गौशालाओ के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की । 
 

http://www.firstindianews.com/news/After-the-death-of-dozens-Gayo-administration-silence-12071910472018/05/23 01:46
आयुष शर्मा की डेब्यू फिल्म 'लवरात्रि' पर बवाल, वीएचपी ने जताई आपत्ति http://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527063063v5ie_Aayush-Sharma.jpg

मुंबई। सलमान खान फिल्म्स की आने वाली फिल्म 'लवरात्रि' को लेकर विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) ने आपत्ति जताई है। वीएचपी ने कहा है की वे इस फिल्म की स्क्रीनिंग नहीं होने देंगे क्योंकि फिल्म का टाइटल हिन्दू त्यौहार के नाम को बिगाड़ता है। वीएचपी के आलोक कुमार ने कहा की हम नहीं चाहते कि हिंदुओं की भावनाएं आहत हों। उन्होंने कहा की फिल्म नवरात्रि के बैकड्रॉप पर आधारित है। जो एक हिंदू त्योहार है। फिल्म के नाम से इसका अर्थ बिगाड़ता है। 

आपको बता दें की फिल्म की कहानी गुजराती बैकग्राउंड की है। सलमान खान इस फिल्म से अपने जीजा आयुष शर्मा को लॉन्च करने जा रहे है। यह फिल्म सलमान खान के होम प्रोडक्शन की फिल्म है। फिल्म की रिलीज डेट भी वही है जिस दिन नवरात्रि है। फिल्म का निर्देशन अभिराज मीनावाला कर रहे हैं और यह उनकी बतौर डायरेक्टर पहली फिल्म है। सलमान खान के प्रोडक्शन हाउस की यह पांचवी फिल्म होगी। सलमान ने इस फिल्म की घोषणा पिछले साल की थी। 

इससे पहले भी विश्व हिंदू परिषद ने कई फिल्मो का विरोध किया है। वीएचपी विरोध के चलते संजय लीला भंसाली को भी फिल्म 'पद्मावती' का नाम बदलकर 'पद्मावत' करना पड़ा था। आयुष शर्मा सलमान खान की बहन अर्पिता खान के पति हैं। बॉलीवुड के दबंग सलमान खान ने कई बार नए लोगों को इंडस्ट्री में मौका दे चुके हैं और उन्होंने कई स्टार किड्स और इंडस्ट्री से बाहर के नए टेलेंट को अपनी फिल्मों के जरिए मौका दिया है। 

http://www.firstindianews.com/news/VHP-expresses-objection-to-Ayush-Sharma-debut-film-Lavratri-509225762018/05/23 01:35
प्रदेश में पहली बार कचरे से बनने वाली बिजली के दाम तयhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/15270625488zru_GARBAGE-1.jpg

जयपुर। राजस्थान हो या अन्य कोई दूसरा प्रदेश, हर किसी के लिए वेस्ट मैनेजमेंट काफी बड़ी चुनौती मानी जाती है और हो भी क्यों ना, अगर कचरे का सही प्रबन्धन हो तो यह कमाई का जरिया बन सकता है। ऐसे में राज्य सरकार ने भी वेस्ट टू एनर्जी की दिशा में काम शुरू करते हुए जयपुर में जहां लांगडियावास में 12 मेगावाट का प्लांट लगाया गया है, वहीं दूसरी ओर जोधपुर में 6 मेगावाट का प्लांट स्थापित किया है। 

बता दें कि इन दोनों प्लांट का जिम्मा जिंदल अरबन वेस्ट मैनेजमेंट लिमि.के पास है, जिसकी याचिका पर राजस्थान विद्युत विनियामक आयोग ने प्रदेश में पहली बार वेस्ट टू एनर्जी के दाम तय किए हैं।

वहीं प्रदेश में कचरे से बिजली बनाने के दाम तय करने के फैसले को स्वागत योग्य माना जा रहा है कि वेस्ट टू एनर्जी के दाम तय करने का आयोग का आदेश स्वागतयोग्य है, साथ ही सरकार की इस दिशा में शुरू की गई पहल भी काबिलेतारीफ है। उम्मीद ये है कि आगे भी इस विचार को विस्तार दिया जाएगा, ताकि कचरे का उपयोग से अधिक से अधिक बिजली पैदा की जाए सके। 

क्या है योजना?
- प्रदेश में कचरे से बिजली बनाने की योजना है, जिसे "वेस्ट टू एनर्जी" का नाम दिया गया है। 
- फिलहाल राजस्थान में बिजली के लिए जयपुर और जोधपुर में लगे हैं 18 मेगावाट के पॉवर प्लांट 
- लेकिन आने वाले समय में प्रदेश बिजली उतपादन के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनना चाहती है और इसके लिए हर साल 1072 लाख यूनिट बिजली पैदा करने का लक्ष्य रखा गया है। 
- जयपुर के लांगड़ियावास में 12 मेगावाट का प्लांट के लिए 7.31 प्रति यूनिट की दर तय
- जोधपुर के 6 मेगावाट प्लांट को मिली 7.43 रुपए प्रति यूनिट की दर 
- बिजली कंपनियों को तय दर पर खरीदनी होगी बिजली

http://www.firstindianews.com/news/producing-electricity-by-waste-products-3057759222018/05/23 01:22
देर रात शराब के ठेके पर फायरिंग से इलाके में फैली सनसनीhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527061542e2ji_Tabu.jpg

चूरू। जिला मुख्यालय के कच्चा बस स्टैंड के सामने स्थित अंग्रेजी शराब के ठेकेदार पर इनोवा में सवार होकर आए कुछ बदमाशो ने देर रात फायरिंग कर दी। फायरिंग में ठेकेदार को गोली लगते ही आसपास के लोगों की भीड़ जमा हो गई। भीड़ को जमा होते देख आरोपी मौके से फरार हो गए। 

गोली लगने से घायल शराब ठेकेदार को तुरन्त राजकीय अस्पताल में भर्ती कराया गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल शराब ठेकदार के बयान दर्ज कर जिले की सीमाओं पर नाकाबंदी करवा दी। अभी तक फायरिंग के आरोपी पुलिस की गिरफ्त से दूर हैं। लेकिन जो कुछ भी हो इस वारदात ने पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिये है।

आपकों बता दें कि राज्य में शराब के ठेके शाम आठ बजे तक खुलते है। लेकिन कही ना कही पुलिस की मिली भगत से इन नियम की धज्जियां उड़ाई जाती है। इन सब में शराब के ठेकेदारों और पुलिस की मिलीभगत से कतई इनकार नही किया जा सकता है। क्योंकि आठ बजे बाद भी जिले में धड़ल्ले से शराब के ठेके खुले रहते हैं। उस दौरान पुलिस की गाड़ी आकर एक बार भी उन्हे बंद कराने की कोशिस नही करती है।

इस घटना में पुलिस की नाकामी के पीछे सबसे बड़ा कारण यह है कि जहां फाइरिंग हुई है वह शराब का ठेका रेलवे स्टेशन के पास चौकी से मुश्किल 60 मीटर की दूरी पर है। लेकिन पुलिस की मिली भगत ओर हप्ता वसूली के खेल में सारे के सारे नियम कायदे ताक पर रख दिये जाते हैं। पुलिस की निष्क्रियता का ही यह सकेत है की आये दिन शराब माफियो का आतंक जिला मुख्यालय पर देखने को मिलता हैं।
 

http://www.firstindianews.com/news/Sensation-spread-in-the-area-by-firing-on-late-night-liquor-contracts-20470733282018/05/23 01:13
जैसलमेर से अब अहमदाबाद दूर नहीं, एक जून से शुरू होगी फ्लाइटhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527060564lvve_jaiselmer.jpg

जैसलमेर। अहमदाबाद या वहां से होकर अन्यत्र जाने वाले जैसलमेर के बाशिंदों और अन्य लोगों के लिए खुश खबरी है। जैसलमेर अब विमान सेवा के जरिए अहमदाबाद से जुडऩे वाला है। आगामी एक जून से यह सेवा वाया जयपुर होकर उपलब्ध होगी। दूसरी तरफ ऑफ सीजन में कम सवारी उपलब्धता के चलते स्पाइसजेट की ओर से संचालित की जा रही जैसलमेर-दिल्ली विमान सेवा आगामी 25 मई से बंद की जा रही है। यह सेवा अब पुन: आगामी अक्टूबर माह में शुरू होगी।हालांकि जैसलमेर से वाया जयपुर दिल्ली के लिए विमान सेवा की उपलब्धता का विकल्प मौजूद रहेगा।

गौरतलब है कि स्पाइसजेट कंपनी की ओर से आगामी एक जून से जैसलमेर से जयपुर होते हुए अहमदाबाद के लिए विमान सेवा मुहैया करवाई जाएगी, जिसका शेड्यूल भी जारी हो चुका है। स्थानीय ट्रेवल एजेंट ने बताया कि जैसलमेर से शाम 5 बजे जयपुर के लिए विमान उड़ान भरेगा और वहां 6.10 बजे पहुंचने के बाद 20 मिनट के विश्राम के बाद वही विमान यात्रियों को रात 8.10 बजे अहमदाबाद पहुंचाएगा। 

जैसलमेर-अहमदाबाद विमान सेवा का प्रारंभिक किराया 4800 रुपए प्रति यात्री निर्धारित किया गया है। जयपुर से सुबह जैसलमेर आने वाली विमान सेवा के समय में भी परिवर्तन किया जा रहा है।आने वाले दिनों में यह विमान अपराह्न पष्चात 3.30 बजे जयपुर से जैसलमेर के लिए उड़ान भरेगा। जैसलमेर से दिल्ली के लिए विमान सेवा अब जयपुर होते हुए मिलेगी। जयपुर में यात्रियों को विमान बदलना होगा।

http://www.firstindianews.com/news/jaisalmer-to-Ahmadabad-flight-services-12396956862018/05/23 12:54
जोधपुर इमारत हादसाः भवन मालिक द्वारा थाने में शिकायत दर्जhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/15270598908x3a_jodh.jpg

जोधपुर। शहर के सरदारपुरा बी रोड पर इमारत ढ़हने से हुए बड़े हादसे में अब एक नया मोड़ आया है। बिल्डिंग के मालिक ने भूखंड मालिक के विरुद्ध सरदारपुरा थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। इस मामले में सरदारपुरा थाने के सब इंस्पेक्टर दिनेश ने बताया है कि बिल्डिंग के मालिक चंद्रप्रकाश भूतड़ा ने भूखंड मालिक पवन वैष्णव पर लापरवाही बरतने और जान जोखिम में डालने का आरोप लगाया है। हालांकि अभी तक जांच चल रही है और इसलिए फिलहाल इस मामले पर कुछ कहना सही नहीं है। 

गौरतलब है कि पुलिस को दी जानकारी में भवन के मालिक ने बताया है कि बी रोड पर आरोपी पवन वैष्णव का भूखंड है, जहां वह निर्माण कार्य करवा रहा था और उस दिन भूखंड पर बेसमेंट खुदाई का कार्य चल रहा था। दुकान के पास ही मेरी बिल्डिंग है, जहां नीचे डिपार्टमेंटल स्टोर और ऊपर आवासीय मकान है। मंगलवार को आरोपी पवन द्वारा बेसमेंट को अधिक गहरा कर देने से मेरी बिल्डिंग भरभराकर गिर गई और इस हादसे में 3 लोग मलबे के नीचे दब गए, जिन्हें रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर बाहर निकाला गया।

http://www.firstindianews.com/news/jodhpur-building-collapse-12393516672018/05/23 12:45
कल से शुरू हो जाएगी भोगिशैल परिक्रमा, एक लाख श्रद्धालुओं का होगा आगमनhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527058757baku_yatra.jpg

जोधपुर। जोधपुर में शुरू हो रहे सात दिवसीय आस्था के अनुष्ठान भोगिशैल परिक्रमा कल से 30 मई तक चलेगी। जोधपुर के लिए इस परिक्रमा का अपना ही महत्व है। अयोध्या की 24 कोसी और ब्रज की गोवद्र्धन परिक्रमा की तरह ही एक सप्ताह तक आस्था के सफर में शहर सहित मारवाड़ अंचल से करीब एक लाख श्रद्धालुओं के शामिल होने की संभावना है।

गौरतलब है कि हिन्दू सेवा मंडल के बैनर तले आयोजित परिक्रमा के दौरान श्रद्धालु भोगिशैल पहाडिय़ों की 105 किमी की पद यात्रा करते हुए धार्मिक स्थलों में सत्संग तथा जलकुण्डों में स्नान करते हैं। हिन्दू सेवा मण्डल जोधपुर अध्यक्ष देवीलाल टाक तथा आयोजन समिति संयोजक प्रेमराज खिंवसरा तथा सचिव विष्णुचन्द्र प्रजापत ने बताया किकल अपराह्न 3 बजे मण्डल कार्यालय घण्टाघर में ध्वज पूजन से होगी। 

बता दें कि विनायकिया में बिछडिय़ा गजानन व रातानाडा गणेश दर्शन के बाद प्रथम पड़ाव रातानाडा क्षेत्र में रहेगा। यह परिक्रमा कल रातानाडा, 25 को चौपासनी, 26 को बड़ली, 27 को बैद्यनाथ, 28 को बेरीगंगा, 29 को मंडोर उद्यान में पड़ाव होगा। परिक्रमा के अंतिम पड़ाव मंडोर उद्यान के बाद परिक्रमा यात्री 30 मई को सुबह संतोषी माता मंदिर, कागा तीर्थ शीतला माता मंदिर, शेखावतजी का तालाब, उम्मेद भवन होते हुए सुबह 11 बजे रातानाडा गणेश मंदिर में दर्शन करेंगे। उसके बाद शोभायात्रा के रूप में कुंजबिहारी, गंगश्यामजी व घनश्यामजी मंदिर के दर्शन कर यात्रा घंटाघर मंडल कार्यालय पहुंच विसर्जित होगी।

http://www.firstindianews.com/news/jodhpur-bhogishel-parikarma-18087025442018/05/23 12:21
सलमान खान की फिल्म 'भारत' की स्टारकास्ट में जुड़ा एक और नामhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/15270584817app_Tabu.jpg

मुंबई। बॉलीवुड के दबंग सलमान खान हर साल ईद पर अपने फैंस के लिये फिल्म लेकर आते हैं। अगले साल ईद पर आने वाली सलमान की फिल्म "भारत" के लिए स्टारकास्ट फाइनल होनी शुरू हो गयी है। इस फिल्म के लिए अभिनेत्री दिशा पाटनी और प्रियंका चोपड़ा का नाम पहले ही फाइनल हो चूका है। इसी क्रम में अब अभिनेत्री तब्बू का नाम और जुड़ गया है। इस बात की जानकारी फिल्म के डायरेक्टर अली अब्बास जफर ने ट्विटर के जरिये दी। 

अली अब्बास जफर ने तब्बू की तस्वीर शेयर करते हुए ट्वीट किया की, "आखिरकार, ये हो रहा है। आपके साथ काम करने के लिए काफी एक्साइटेड हूं।  बहुत सारा प्यार। " अभिनेत्री तब्बू सलमान खान के साथ पहले चार फिल्मों में काम कर चुकी है। फिल्म "भारत" तब्बू की सलमान के साथ पांचवी फिल्म होगी। फिल्म "जय हो", "बीवी नंबर वन", "हम साथ-साथ हैं" और "जीत" में सलमान और तब्बू साथ काम कर चुके हैं। इस फिल्म से पहले तब्बू फिल्म 
"'गोलमाल अगेन" में नजर आई थीं। 

सलमान खान की फिल्म "भारत " दक्षिण कोरियाई फिल्म "ओड टू माई फादर" की ऑफिशियल रीमेक है। यह फिल्म 2014 में आई थी। वैसे सलमान खान अली अब्बास जफर के साथ पहले भी दो फिल्मों "सुल्तान" और "टाइगर जिंदा है" में काम कर चुके हैं। आपको बता दें की प्रियंका चोपड़ा सलमान खान के साथ 11 साल बाद काम करेंगी। सन 2008 में "गॉड तुस्सी ग्रेट हो" में दोनों एकसाथ नजर आए थे। 

http://www.firstindianews.com/news/Another-name-in-the-star-cast-of-Salman-Khan-movie-Bharat-18847713852018/05/23 12:16
जोधपुर इमारत हादसाः मलबें से मंडरा रहा खतरा, निगम को नहीं परवाहhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/15270574461n1g_jod.jpg

जोधपुर। जोधपुर के सरदारपुरा बी रोड पर कल अचानक हुए भवन हादसे में भले ही 3 जिंदगियों को सकुशल बचा लिया गया हो, मगर इस हादसे के बाद यहां रहने वाले लोग डरे-सहमे हुए हैं। ताज्जुब इस बात का है कि इतनी बड़ी दुर्घटना होने के बाद भी सरकार बेफिक्र हैं, यहां तक कि सरकार ने यहां से भवन के मलबों को हटाना भी जरूरी नहीं समझा। जिसके कारण इस भवन के मालिक ने अपने स्तर पर ही मलबा हटाने का काम शुरू कर दिया है।

गौरतलब है कि इतने बड़े हादसे के बाद इस क्षेत्र पर भवन के मलबों के कारण खतरा मंडरा रहा है। बताया जा रहा है कि तेज हवा या बारिश होने की स्थिति में यहां आसपास के अन्य कई भवन गिर सकते हैं। सुरक्षा के लिहाज से तमाम मलबा नागरिक सुरक्षा या नगर निगम के कर्मचारियों की मौजूदगी और वरिष्ठ अधिकारियों की निगरानी में हटाया जाना चाहिए।

बता दें कि जोधपुर में सरदारपुरा बी रोड़ पर एक तीन मंजिला इमारत अचानक से जमींदोज हो गई थी। अचानक हुए इस हादसे में 6 लोग धराशायी हुई इमारत के मलबे में दब गए थे, लेकिन NDRF टीम द्वारा रेस्क्यू अभियान के चलते सभी को सकुशल बाहर निकाल लिया गया था। 

जानकारी के अनुसार, जोधपुर के सरदारपुरा में ये हादसा उस वक्त हुआ जब वहां पर एक निर्माणाधीन मकान का कार्य चल रहा था। इसके लिए जब नींव खोदने का कार्य चल रहा था, तभी वहां अचानक जमीन ढहने से पास में स्थित एक तीन मंजिला इमारत भर—भराकर धराशायी हो गई। ऐसे में वहां कार्य कर रहे मजदूर भी इसकी चपेट में आ गए। वहीं भवन के अचानक गिरने से वहां पर लोगों की भारी संख्या में भीड़ जमा हो गई है।

http://www.firstindianews.com/news/jodhpur-old-house-collapse-updates-9004692842018/05/23 12:03
जम्मू-कश्मीर में PAK की नापाक हरकत, लगातार फायरिंग में तीन लोगों की मौतhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527054887mrnb_sunil.jpg

श्रीनगर। कश्मीर में नियंत्रण रेखा (LoC) पर पाकिस्तान दिन रात सीजफायर का उल्लंघन कर अपनी नापाक हरकतों से बाज नही आ रहा है। सीमावर्ती लोगों की जिंदगी स्थिर हो गई है। अरनिया और सांबा के बाद अब आरएसपुरा सेक्टर में पाकिस्तानी रेंजर्स गोलाबारी कर रहे हैं। आज सुबह से फायरिंग में अब तक 3 नागरिक अपनी जान से हाथ धो बैठे हैं। सेना वहां के लोगों को सुरक्षित स्थान पर ले जाने के प्रयास में जुटी हुई है लेकिन कुछ अपना सबकुछ छोड़कर दूसरी जगह पर जान के लिए तैयार नहीं हैं। 

पाकिस्तान ने बीएसएफ की करीब 40 पोस्टों को निशाना बनाया गया है।  बीती रात लगातार सीमा पार से गोल दागे गए। इस फायरिंग में 4 नागरिक घायल हुए हैं। पुलिस के अनुसार पाकिस्तान की ओर से रातभर हीरानगर, सांबा, रामगढ़, अरनिया और आरएसपुरा सेक्टर में गोलीबारी की गई। अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर के पांच किमी. के आसपास सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों को बंद कर दिया गया है।  लगातार फायरिंग को देखते हुए आरएसपुरा, अरनिया और सांबा सेक्टर में और अधिक बुलेटप्रूफ वाहनों को भेजा गया है। हमले के दौरान पाकिस्तान 82MM के मोर्टार दाग रहा है।

जानकारी के अनुसार कुछ लोगों ने प्रशासन द्वारा बनाए गए अस्थाई शिविरों में शरण ली है, जबकि अधिकांश लोग अपने रिश्तेदारों और दोस्तों के घर में शरण लेने के लिए मजबूर हैं। हालांकि मवेशियों और घरों की रखवाली के लिए हर घर में एक पुरुष सदस्य को छोड़ दिया गया है। खबरों के अनुसार पाकिस्तान की ओर से लगातार तीसरे दिन बुधवार को भी अकारण गोलीबारी और गोलाबारी जारी है। 
 

http://www.firstindianews.com/news/Jammu-and-Kashmir-firing-continues-on-behalf-of-Pak-8596161012018/05/23 11:22
NiPah वायरस से मरने वालों का बढ़ा आंकड़ा, देशभर में अलर्ट जारी http://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527053729hs7n_bat-virus.jpg

तिरुवनन्तपुरम। केरल के कोझिकोड में निपाह वायरस (एनआईवी) का आतंक साफ देखने को मिल रहा है। अब तक इस वायरस के प्रकोप से 6 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि छह अन्य लोगों की हालत नाजुक बनी हुई है। डॅाक्टरों की माने तो गहन तलाशी के बाद यहां और भी बड़े स्तर पर इस वायरस से प्रभावित लोग मिल सकते हैं। फिलहाल 25 प्रभावित सघन क्षेत्रों को निगरानी में रखा जा रहा है।

केरल में इस जानलेवा वायरस के खौफ को इसी बात से समझा जा सकता है कि लोग वहां घर से निकलने में कतरा रहे हैं। उधर, केरल पशुपालन विभाग ने इस वायरस पर लगाम लगाने के लिए अपनी कमर कस ली है। क्षेत्र में चमगादड़ पकड़ने के लिए पशुपालन विभाग कुएं और पेड़ों पर जाल लगा रहा हैं। 

गौरतलब है कि इस वायरस के फैलने का मुख्य कारण चमकादड़ों को माना जा रहा है। केरला हेल्थ सर्विसेस की एक रिपोर्ट में भी ये बात कही गई है कि जिस परिवार के तीन लोगों की मौत निपाह वायरस से हुई है, उनके घर के आसपास के क्षेत्र में बड़ी संख्या में चमकादड़ मिले हैं।

http://www.firstindianews.com/news/nipah-virus-alert-20548506912018/05/23 11:00
अब भाजपा से राज्यसभा की राह पर कुमार विश्वास !http://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527051534hmed_sunil.jpg

नई दिल्ली। काफी समय से आम आदमी पार्टी में हाशिये पर चल रहे कुमार विश्वास को अब भारतीय जनता पार्टी राज्यसभा भेज सकती है। जनवरी में आम आदमी पार्टी की ओर से तीन राज्यसभा सदस्यों के नामों का एलान करने के बाद से ही कुमार विश्वास का अरविंद केजरीवाल से टकराव चल रहा है। खुद को राज्यसभा में ना भेजे जाने से खफा कुमार विश्वास ने अरविंद केजरीवाल के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। लेकिन अब कुमार विश्वास पर भाजपा विश्वास करने जा रही है।

राजनीतिक जानकार इस बात की अटकले तो लगा रहे है लेकिन कोई भी इस बारे में खुलकर बोलने से बच रहा है। कुमार को मनोनित कोटे की सीट से उच्च सदन में भेजा जा सकता है। भाजपा कुमार को राज्यसभा में भेजकर 2019 के लोकसभा चुनाव प्रचार में उतार सकती हैं।

सूत्रों की मानें तो केंद्रीय स्तर पर भाजपा ने विश्वास को राज्यसभा भेजने का प्रस्ताव तैयार कर पीएम मोदी के पास भेज दिया है। हालांकि कुमार इसके बारे में कुछ भी बोलने से किनारा कर रहे हैं। वहीं भाजपा की तरफ से भी कोई इस बारे में बोवले के लिए तैयार नही हैं।

दरअसल मनोनित कोटे से हाल ही में तीन सीटे खाली हुई हैं। अभिनेत्री रेखा, क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और सामाजिक कार्यकर्ता अनु आगा राज्यसभा से रिटायर हो गए हैं। वहीं, जून में मशहूर वकील के. पराशरन का भी कार्यकाल पूरा होने वाला हैं। ऐसे में चार सीटे खाली हो जाएगी जिनमे से एक कुमार विश्वास के खाते में जाने का कयास लगाया जा रहा है।

http://www.firstindianews.com/news/Kumar-Vishwas-to-be-nominated-in-Rajya-Sabha-13783899272018/05/23 10:27
कर्नाटक में कुमारस्वामी लेंगे सीएम पद की शपथ, 24 को फ्लोर टेस्ट, कैबिनेट का  भी निकला फॉर्मूलाhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/15270515099qbp_rahul_kumaraswamy.jpeg

बेंगलुरु। कर्नाटक में आज जेडीएस और कांग्रेस राजनीति का नया अध्याय लिखने जा रही है। भारी विरोध और नाटक के बाद कर्नाटक में जेडीएस के एचडी कुमारस्वामी सीएम और कर्नाटक कांग्रेस के अध्यक्ष जी परमेश्वर डिप्टी सीएम पद की शपथ लेने जा रहे हैं। कांग्रेस यहां विधानसभा के स्पीकर पद का भार संभालने जा रही है, वहीं डिप्टी स्पीकर का भार जेडीएस अपने कंधे पर ले रही है। 

गौरतलब है कि आज कुमारस्वामी मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे, जबकि कल विधानसभा में बहुमत साबित करेंगे। विधानसभा में फ्लोर टेस्ट के बाद कैबिनेट विस्तार किया जाएगा। वैसे खबरों की माने तो दोनों पार्टियों ने ये फाइनल कर लिया है कि कैबिनेट में किसे कौन सा पद मिलेगा। दावों के मुताबिक कांग्रेस के 22 और जेडीएस के 12 विधायकों को कैबिनेट में जगह मिलने वाली है।

http://www.firstindianews.com/news/karnataka-congress-jds-coalition-swearing-in-ceremony-12985346232018/05/23 10:23
एक से ज्यादा शादी करने वाले अब यूपी में नहीं बन पाएंगे दरोगा, मुस्लिम पर लागू नहीं होगा कानूनhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/15270491105phe_sunil.jpg

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को कैबिनेट की बैठक कर 11 महत्वपूर्ण प्रस्तावों को मंजूरी दी है। कैबिनेट ने फैसला किया है कि अब दो और तीन शादी करने वाले सब इंस्पेक्टर और इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा के लिए आवेदन नहीं कर पाएंगे। 

लेकिन पर्सनल लॉ बोर्ड के दायरे में आने वाले (मुस्लिम) लोगों को इस नियम में छूट रहेंगी। साथ ही इस संशोधन के बाद पुलिस में अब महिलाओं और पुरूषों के लिए अलग-अलग भर्ती नही निकलेंगी। जानकारी के अनुसार इसके लिए इंस्पेक्टर और सब इंस्पेक्टर नागरिक पुलिस सेवा नियमावली में संशोधन करने की तैयारी कर ली हैं।

इसके लिए नियमावली के नियम 12 में संशोधन किया गया है। साथ ही नियम 16 में संशोधन के जरिये यह तय किया है कि सब इंस्पेक्टर और इंस्पेक्टर के नियुक्ति प्राधिकारी आरक्षण के साथ इनकी सीटों का चयन करेंगे। उसके बाद ही विभागाध्यक्ष उनका परीक्षण करेंगे। विभागाध्यक्ष परीक्षण करने के बाद उसे सरकार के पास भजेंगे और सरकार विभाग के माध्यम से पुलिस भर्ती बोर्ड को इन खाली पदों का विज्ञापन जारी करेंगे।
 

http://www.firstindianews.com/news/Married-more-than-one-that-will-no-longer-be-in-the-state-inspector-9188605772018/05/23 09:46
आरके सिन्हा ने की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से मुलाकात http://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527046041ief6_sunil.jpg

जयुपर। बिहार कोटे से राज्यसभा सांसद आरके सिन्हा ने राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया से मुलाकात की। मुलाकात 22 मई यानि मंगलवार को दोपहर बाद हुई। दरअसल इस मुलाकात का समय आर के सिन्हा ने पहले ही ले रखा था। एक तरफ मुलाकात जहां शिष्टाचार भेंट के तौर पर थी तो अंदरखाने की खबर यह है कि आर के सिन्हा ने RSS द्वारा पूर्व में परोक्ष रूप से संचालित समाचार एजेंसी हिंदुस्तान समाचार की कमान भी संभाली है। 

हिंदुस्तान समाचार बहुभाषीय समाचार एजेंसी है जिसका संवाद कार्यक्रम पूरे देश में आयोजित किया जाता है। अभी कुछ दिनों पूर्व उत्तर प्रदेश में भी संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया था इसी संवाद कार्यक्रम में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया को बतौर मुख्य अतिथि बुलाने के लिए यह मुलाकात हुई सिन्हा ने मुख्यमंत्री को बुके दिया और हिंदुस्तान समाचार द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रमों की जानकारी दी। 

आपको बता दे कि समाचार एजेंसी की ओर से राजस्थान में सात संभागों में संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा जिसमें जयपुर जोधपुर कोटा अजमेर जैसे शहर शामिल है और सातों संभाग में बतौर आर के सिन्हा और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया शामिल होंगे।
 

http://www.firstindianews.com/news/RK-Sinha-meets-Vasundhara-Raje-6781608832018/05/23 08:55
बुलेट ट्रेन के दौर में देश का एक रेलवे स्टेशन ऐसा भी, जहां आज भी चल रहा है लालटेन का युगhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527044778tdvf_sunil.jpg

पटना। भारतीय रेल विश्व का दूसरा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है। ऐसा माना जाता है कि भारतीय रेल में हम संपूर्ण भारत का दर्शन कर सकते हैं। इसमे पूर्व से पश्चिम और उत्तर से दक्षिण तक के लोग आपकों सफर करते मिल जाएंगे। रेल भारत में यातायात का मुख्य साधन होने के साथ ही देश के जीवन का जरूरी हिस्सा बन चुकी है । रेलगाड़ियों के आवागमन ने जहां हमारे देश की कला, इतिहास और साहित्य पर अद्भुत प्रभाव डाला है वहीं हमारे देश के विभिन्न प्रांत के लोगों के बीच विविधता में एकता की अहम कड़ी भी है। भारतीय रेल विभिन्न स्थानों को जोड़ती है और लोगों को देश के एक छोर से दूसरे छोर तक बड़े पैमाने पर तेज गति से और कम लागत पर आने-जाने में मदद करती है । इस प्रक्रिया में भारतीय रेल राष्ट्रीय अखंडता का प्रतीक है । 

ऐसे में अगर हम बिहार के पाटलिपुत्र रेलवे स्टेशन की बात करें तो वहां की स्थिति आज भी काफी खराब हैं।  दरअसल पटना का पाटलिपुत्र स्टेशन जो कि इन दिनों कई महत्वपूर्ण गाड़ियों के ठहराव का प्रमुख केंद्र है वह आज भी लालटेन युग में चल रहा है।आपको बताएं कि कुछ दिनों पहले पाटलिपुत्र स्टेशन का उद्घाटन हुआ है इसे स्टेशन पर नॉर्थ ईस्ट होकर आने वाली ट्रेनों का ठहराव सुनिश्चित किया गया है जिसमें पूर्वोत्तर संपर्क क्रांति डिब्रूगढ़ राजधानी जैसी महत्वपूर्ण और देश के प्रतिष्ठित ट्रेनें शामिल हैं बावजूद इसके यहां ना तो डिस्प्ले का इंतजाम है और ना ही रोशनी का समुचित प्रबंध है। 

अक्षरा प्लेटफार्म की बत्ती गुल हो जाती है और लोग घर से लाए इमरजेंसी लाइट टॉर्च के सहारे समय बिताते हैं यात्री किस बोगी में चढ़े इसके लिए किसी भी प्लेटफार्म पर डिस्प्ले नहीं है। लेकिन दिनोंदिन इस प्लेटफार्म पर महत्वपूर्ण गाड़ियों का ठहराव बढ़ता जा रहा है। दिल्ली से अशोक को जोड़ने वाली महत्वपूर्ण ट्रेन इसी प्लेटफार्म होकर बिहार में गुजरती हैं। बिहार की राजधानी पटना का नॉर्थ ईस्ट रेलवे की ओर से प्रतिनिधित्व पाटलिपुत्र स्टेशन ही करता है लेकिन सूरत बदल देने का दावा करने वाले सभी केंद्रीय मंत्रियों को इस की सुध लेने की फुर्सत नहीं है कि आखिर क्यों हो पाटलिपुत्र स्टेशन आज भी लालटेन युग में चल रहा है हैरान कर देने वाली बात यह है कि इस बात की जानकारी ना तो बिहार के कोटे से आने वाले केंद्रीय मंत्रियों को है और ना ही उन सांसदों को है जो बिहार में फिलहाल विपक्ष की भूमिका निभा रहे हैं।

आम यात्री हलकान है परेशान हैं उनके सामने समस्या यह है कि आखिर वह करें तो क्या करें एक और महत्वपूर्ण बात यह है कि इसे स्टेशन पर समुचित सेट का भी इंतजाम नहीं है जिसकी वजह से बारिश के मौसम में यात्रियों को छाता लेकर प्लेटफार्म पर खड़ा होना पड़ता है विडंबना देखिए बिहार से केंद्र में कई ऐसे मंत्री हैं जिन्हें रसूख के मामले में काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। देखना दिलचस्प होगा कि एक तरफ जदयू और भाजपा ने बिहार में सरकार बनाकर जनता को यह संदेश देने की कोशिश की कि लालटेन युग से उनका छुटकारा हुआ तो क्या यह संदेश महज संदेश बनकर रह जाएगा या पाटलिपुत्र स्टेशन को भी लालटेन युग से आजादी मिलेगी। 
 

http://www.firstindianews.com/news/Patliputra-station-of-Patna-is-now-in-the-Lantern-era-12005545272018/05/23 08:28
20 दिनों के बाद आखिर मिल गया जोधपुर डिस्कॉम को मुखियाhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527006489wl6z_jodhpur-discom.jpg

जयपुर। जोधपुर डिस्कॉम को करीब 20 दिन बाद आखिरकार मुखिया मिल गया है। राज्य सरकार ने मंगलवार को डिस्कॉम एमडी पद की उत्तराखंड के टेक्नोक्रेट्स एस एस यादव को जिम्मेदारी सौंप दी। ऊर्जा विभाग के स्पेशल सैकेट्री पी रमेश ने इसके लिए आदेश जारी किए।

बता दें कि प्रदेश में नए सीएस की नियुक्ति के बाद जारी तबादला सूची में जोधपुर डिस्कॉम की तत्कालीन एमडी आरती डोगरा को अजमेर कलक्टर लगाया गया था। इसके बाद से खाली चल रहे पद पर सरकार ने उत्तराखंड के टेक्नोक्रेट्स एस एस यादव को लगाया है। यादव उत्तराखंड पॉवर कम्पनी में एमडी के पद पर कार्य कर चुके हैं, जिन्हें एक साल के लिए जोधपुर डिस्कॉम की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

उधर, यादव की नियुक्ति के साथ ही एमडी पद के अन्य दावेदारों को बड़ा झटका लगा है। कई अभियंताओं ने नियुक्ति पर सवाल भी उठाए हैं। उनका कहना है कि उत्तराखंड पॉवर कम्पनी में एमडी रहते हुए यादव पर भ्रष्टाचार के कई गंभीर आरोप लगे हैं। एक स्ट्रिंग में भी यादव का नाम आ चुका है। बावजूद इसके ऊर्जा विभाग ने उच्च स्तर को गुमराह किया, जिसके चलते यादव को एमडी बना दिया गया।

http://www.firstindianews.com/news/Jodhpur-Discom-gets-its-head-After-20-Days-8186532932018/05/22 09:30
IAS की वेतन विसंगति दूर करने के फॉर्मूला से चकरघिन्नी हुए डीओपी अधिकारीhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527004823demq_dop-rajasthan.jpg

जयपुर। राजस्थान में कार्मिक विभाग (डीओपी) ने भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) की वेतन विसंगति दूर करने के लिये फॉर्मूला तो निकाल लिया, लेकिन इससे पचड़ा और बढ़ता नजर आ रहा है। दरअसल, इंक्रीमेंट के बाद 2007 बैच के प्रमोटी IAS का वेतन उनसे सीनियर 2005 बैच के IAS से ज्यादा हो गया है।

वित्त व डीओपी की माथापच्ची के बाद आखिरकार 1 फॉर्मूले के अनुसार, 2007 बैच के इन IAS का वेतन कम और 2005 बैच के IAS का वेतन ज्यादा कर दिया। ऐसा डीओपीटी से मार्गदर्शन लेने के बाद किया गया है। हालांकि इसके बावजूद पचड़ा, इसलिए दूर नहीं होता दिख रहा है, क्योंकि वेतन कम करने को लेकर आपत्ति की जा रही है और डीओपी के अधिकारी इसे लेकर चकरघिन्नी बने हुए हैं।

http://www.firstindianews.com/news/dop-officer-in-confusion-over-formula-to-eliminate-pay-discrepancies-in-ias-500120132018/05/22 09:27
पन्ना प्रमुखों के बाद अब बीजेपी बनाएगी पन्ना कार्यकर्ताhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/15270046483jks_jaipur-bjp-office.jpg

जयपुर। पन्ना प्रमुखों का प्रयोग राजस्थान में हुए उपचुनाव में भले ही फेल हो गया हो, लेकिन पार्टी अब पन्ना प्रमुखों के हाथ बढ़ाने जा रही है। प्रदेश भाजपा जल्द ही अपने 52 हजार से अधिक बूथों पर तैनात पन्ना प्रमुखों के साथ पन्ना कार्यकर्ता बनाने जा रही है। नई व्यवस्था में हर पन्ना प्रमुख के नीचे करीब 6 से 8 पन्ना कार्यकर्ता बनाए जाएंगे और इन पन्ना कार्यकर्ताओं में से प्रत्येक को 6 से 8 परिवारों की जिम्मेदारी दी जाएगी।

पन्ना कार्यकर्ता इन परिवारों को भाजपा रीति—नीति व विचारधारा से जोड़ने के साथ ही आगामी चुनावों में इन परिवारों में शामिल हर मतदाता को मतदान केन्द्र तक ले जाने और भाजपा के पक्ष में मतदान कराने की जिम्मेदारी इन पन्ना कार्यकर्ताओं की ही रहेगी। प्रदेश भाजपा में हाल ही में हुई संगठनात्मक बैठकों में संगठन महामंत्री ने चंद्रशेखर ने इसका जिक्र भी किया और इस दिशा में काम करने के निर्देश भी दिए। प्रदेश संगठन महामंत्री चंद्रशेखर के इस नए प्रयोग को मरूधरा की सियासी तपीश में बीजेपी का कमल खिलाने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है। 

इसलिए फेल हुए पन्ना प्रमुख फेल :
प्रदेश में बूथ स्तर तक बनाए गए हर पन्ना प्रमुख के पास संबंधित बूथ के 60 से 70 परिवारों से संपर्क रखने और उन परिवारों को बीजेपी से जोड़ने की जिम्मेदारी थी, लेकिन अधिकतर पन्ना प्रमुख इस जिम्मेदारी को निभा नहीं पाए। या फिर कहे कि कई जगह तो पार्टी का पन्ना प्रमुख का यह प्रयोग इसलिए फेल हो गया कि जिसे पन्ना प्रमुख बनाया गया, उसका संबंधित क्षेत्र में कुछ परिवारों के साथ तो अच्छा तालमेल था, लेकिन कुछ परिवारों से मधुर व्यवहार नहीं होने से वो अपनी जिम्मेदारी को ठीक ढंग से निभा नहीं पाया।

हाल ही में अलवर,अजमेर और मांडलगढ़ में हुए उपचुनाव में हुई हार के बाद यह बात भी सामने आई। ऐसे में अब पन्ना प्रमुख के नीचे 8 पन्ना कार्यकर्ता बनाए जा रहे हैं। इससे जिन परिवारों में पन्ना प्रमुख का तालमेल नहीं है, वहां की जिम्मेदारी पन्ना कार्यकर्ता को दी जाएगी और उन वोटरों को भी भाजपा के पक्ष में जोड़ा जा सकेगा।

http://www.firstindianews.com/news/BJP-will-also-create-panna-workers-now-after-panna-chiefs-7659307602018/05/22 09:09
महिला कार्मिकों को दिया सीएम राजे ने चाइल्ड केयर लीव का तोहफाhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/152700359070cy_child-care-leave.jpg

जयपुर। राजे सरकार ने राज्य सरकार की करीब दो लाख महिला कर्मचारियों को चाइल्ड केयर लीव का तोहफा दिया है। वित्त विभाग ने इसकी अधिसूचना आज जारी कर दी है। इसके तहत अब महिला राज्य सरकार की कर्मचारी अपनी पूरी सेवा में अधिकतम दो वर्ष के लिए अपनी नाबालिग संतान की देखभाल के लिए 730 दिन तक चाइल्ड केयर लीव ले सकती हैं।

19 अक्टूबर 2015 को जब सचिवालय कर्मचारी संघ के शपथग्रहण समारोह में मुख्यमत्री वसुंधरा राजे ने चाइल्ड केयर लीव की घोषणा की थी, तब महिला कर्मियों में उत्साह छलक उठा था। इसके करीब 3 वर्ष तक बार-बार किए गए प्रयासों और रिमाइंडर के बाद कुछ दिन पूर्व सर्क्यूलेशन के जरिये चाइल्ड केयर लीव लागू करने का कैबिनेट से अनुमोदन लिया गया और आज वित्त विभाग ने इसकी विस्तृत अधिसूचना जारी करके नियम-कायदे जारी किए हैं।

बहरहाल, इन सबके साथ महिला कर्मचारियों और कर्मचारी संघों की एक अहम मांग पूरी हो गई है, लेकिन अब सारी निगाहें इस पर भी रहेंगी कि क्या यह लुभावना कदम राजे सरकार के लिए सियासी तौर पर सकारात्मक परिणाम दिलवा पाएगा।

कब और कैसे ली जा सकेगी लीव :
— 2 वर्ष तक राज्य कर्मी महिलाएं ले सकेंगी लीव
— 2 संतानों के बालिग होने तक ले सकतीं लीव
— अपनी पूरी सेवा में 730 दिन की ले सकतीं लीव
— अधिकतम 2 वर्ष के लिए मिलेगी लीव
— ऐसे संतान की देखभाल के लिए मिलेगी लीव, जिसकी आयु 18 वर्ष हो या 22 वर्ष तक कि ऐसी संतान हो, जो न्यूनतम 40% दिव्यांग हो
— 1 वर्ष में 3 बार से ज्यादा नहीं ले सकतीं महिलाएं चाइल्ड केयर लीव। विशेष हालात में प्रोबेशन में भी मिलेगी लीव। हालांकि जितने दिन की लीव ली, उतने दिन का प्रोबेशन बढ़ जाएगा।
— महिला कर्मी होगी लीव सेलेरी की हकदार। अन्य लीव के साथ ली जा सकती यह लीव। इस लीव के लिए फॉर्म भरना होगा। हालांकि इसे लेना अधिकार की श्रेणी में नहीं और बिना पूर्व मंजूरी के न ले सकतीं महिलाएं लीव।
— उस महिला को यह लीव नहीं मिलेगी, जिन्होंने मंजूरी बिना पहले ही छुट्टी ले ली हो और बाद में इस लीव के लिए आवेदन किया।
— अलग प्रकृति की पहले ली गई लीव हो, तो वह इस लीव में नहीं बदल सकती। इसे प्रिविलेज लीव के तौर पर दिया जाएगा।
— संडे, दूसरे अवकाश के आगे पीछे ले सकते लीव। हालांकि संडे, अन्य हॉलिडे लीव में गिना जाएगा।
— यदि आश्रित दिव्यांग सन्तान के लिए है लीव तो उसके आश्रित होने का देना होगा प्रमाण। यह लीव यदि विदेश निवासी संतान के लिए हो और उसकी परीक्षा या बीमारी के लिए यदि लीव लेनी हो तो विदेश में रहने के सारे नियम करने होंगे पूरे।
— साथ ही लीव का 80% वहीं बिताया जाना भी जरूरी है जहां संतान रह रही हो। ऐसी नाबालिग संतान के लिए यदि लीव ली, जो देश या विदेश में होस्टल में रह रहा है तो महिला कर्मी को करना होगा स्पष्ट कि नाबालिग को कैसे देखभाल जरूरी है।

http://www.firstindianews.com/news/women-employee-gets-the-gift-of-child-care-leave-18076490022018/05/22 09:06
सूरज के तल्ख तेवरों में फिर दिखाया दम, गर्मी के मारे हर खासोआम हुआ बेदमhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527001808s1ns_jaipur-temprature.jpg

जयपुर। सूर्यदेव के तल्ख मिजाज और लू के थपेड़ों ने एक बार फिर प्रदेशवासियों को गर्मी का एहसास करा दिया है। मंगलवार को राजधानी जयपुर समेत पूरे प्रदेश में तेज धूप ने जहां तापमान में खासा इजाफा किया, वहीं आम आदमी का जीना भी मुहाल कर दिया। ऐसे में प्रदेश में गर्मी एक बार फिर अपना रौद्र रूप दिखा रही है।

राजधानी जयपुर समेत पूरे प्रदेश में गर्मी ने आम आदमी को परेशान कर दिया है। तेज धूप और लू के थपेड़ों ने गर्मी के स्वरूप को और भी ताकतवर बना दिया है, जिससे तापमान में इजाफा होने के साथ ही मौसमी बीमारियों का खतरा बढ़ गया है। प्रदेश के प्रमुख शहरों के तापमान की बात की जाए तो बीते कुछ दिनों से प्रदेश में सभी शहरों का तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक है। वहीं मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो आने वाले कुछ दिनों में तापमान में और अधिक इजाफा होने की संभावना है।

मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि चक्रवाती तंत्र सक्रिय होने के चलते पिछले कुछ दिनों में राजस्थान समेत देश के कई राज्यों में मौसम परिवर्तन हुआ था, जिसके चलते मौसम में अब एक बार फिर गर्मी का असर देखने को मिल रहा है। बता दें कि आज प्रदेश का सबसे गर्म जिला बूंदी रहा, जहां तापमान 47 डिग्री सेल्सियस को पार कर गया। वहीं सबसे ठंडा जिला माउंट आबू रहा, जहां तापमान 37 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

प्रदेश के प्रमुख शहरों का अधिकतम तापमान :
— अजमेर 43 डिग्री सेल्सियस
— भीलवाड़ा 43 डिग्री सेल्सियस 
— वनस्थली 44.2 डिग्री सेल्सियस 
— अलवर 42.6 डिग्री सेल्सियस 
— जयपुर 42.4 डिग्री सेल्सियस 
— पिलानी 41.1 डिग्री सेल्सियस 
— सीकर 42.2 डिग्री सेल्सियस 
— कोटा 44 डिग्री सेल्सियस 
— सवाई माधोपुर 44.8 डिग्री सेल्सियस 
— बूंदी 47 डिग्री सेल्सियस
— चित्तौड़गढ़ 45.4 डिग्री सेल्सियस 
— डबोक 42.5 डिग्री सेल्सियस 
— बाड़मेर 44.6 डिग्री सेल्सियस 
— जैसलमेर 44 डिग्री सेल्सियस 
— जोधपुर डिग्री 43.6 सेल्सियस 
— माउंट आबू 37 डिग्री सेल्सियस 
— फलोदी 45.8 डिग्री सेल्सियस 
— बीकानेर 43.6 डिग्री सेल्सियस 
— चूरु 43.7 डिग्री सेल्सियस 
— गंगानगर 44.5 डिग्री सेल्सियस

http://www.firstindianews.com/news/the-sun-shown-once-again-a-bitter-tone-1066122172018/05/22 08:31
जल्द नए कलेवर में दिखेगी सेवादल, अब नहीं चलेगा नेताओं की सेवा—चाकरी और सैल्यूटhttp://www.firstindianews.com/news_backend/images/articles/1527001262at3i_seva-dal-president.jpg

जयपुर। सेवादल कांग्रेस की पहचान अब नेताओं को सेल्यूट करने और उनकी सेवा चाकरी से नहीं होगी, बल्कि स्थापना के मूल मकसद, राष्ट्रसेवा औऱ संगठन निर्माण से होगी। यह दावा किया है जयपुर आए सेवादल कांग्रेस के राष्ट्रीय मुख्य संगठक लालजी भाई देसाई ने।

सेवादल कांग्रेस की बैठक लेने आए देसाई ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि है यह सच है कि सेवादल अपने मूल उद्देश्य से भटक गया और नेताओं की पसंद नापंसद पर काम करने लग गया, लेकिन अब सेवादल कांग्रेस अपने ट्रेनिंग प्रोग्राम के जरिए वापस विचारधारा, राष्ट्रसेवा, आपदा और सगंठन निर्माण के उद्देश्यों पर चलेगा।

देसाई ने कहा कि जल्द ही सेवादल तकनीक में दक्ष होगा इसके लिए उसका ऐप बनकर तैयार हो रहा है, जिस पर तमाम जानकारी उपलब्ध रहेगी। देसाई ने कहा कि उनकी आरएसएस से तुलना कभी नहीं कि जा सकती, क्योंकि उनमें और हम में पूर्व पश्चिम का फर्क है। संघ तोड़ने का काम करता है और हम जोड़ने में भरोसा करते हैं। देसाई ने कहा कि अगर सेवादल का नेता टिकट का मजबूत दावेदार है तो जरुर उसको मौका दने की पैरवी करेंगे।

http://www.firstindianews.com/news/congress-seva-dal-will-soon-be-seen-in-new-caste-2416186022018/05/22 08:22