सरकार और जाट नेताओं के बीच सफल वार्ता के बाद जाट आंदोलन हुआ समाप्त

FirstIndia Correspondent Published Date 2017/06/24 16:25

भरतपुर| राजस्थान के भरतपुर में विगत 22 जून से ओबीसी में आरक्षण की मांग को लेकर चल रहे जाट आंदोलन को सरकार के साथ हुई सकारात्मक वार्ता के बाद जाट नेताओं ने आंदोलन को समाप्त करने की घोषणा कर दी है जिसके बाद भरतपुर धौलपुर जाट आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक नेम सिंह जिले में लगे सभी रेल और हाईवे मार्गों पर चक्का जामों को खुलवाने के लिए निकल चुके है |  

 

दरअसल आज राजस्थान सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के शासन सचिव बीएल जाटाबत,संभागीय आयुक्त सुबीर कुमार,जिले कलेक्टर नरेंद्र कुमार गुप्ता और जाट नेताओं की तरफ से कांग्रेस विधायक एवं जाट नेता विश्वेन्द्र सिंह,भरतपुर धौलपुर जाट आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक नेम सिंह के बीच आईजी कार्यालय में करीब डेढ़ घंटे तक आरक्षण आंदोलन को लेकर वार्ता हुई जिसके बाद दोनों पक्षों में सभी पहलुओं पर सहमति बनी | 

 

सरकार की तरफ से जाट आंदोलन कर रहे नेताओं को एक लिखित चिट्ठी सौंपी गयी जिसमे सरकार ने लिखित में जाट नेताओं को वायदा किया है की शीघ्र ही ओबीसी आयोग की सर्वे रिपोर्ट पर सरकार अध्यन कर आगामी विधानसभा की बैठक में आरक्षण के लिए प्रस्ताव पारित कर आरक्षण की प्रक्रिया को पूरा करेगा | 

 

Jaat Leaders, Jaat Movement, Government, Rajasthan, Reservation, Bharatpur

  
First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

अमित शाह अब ठीक है, अमित शाह ने TWEET कर बताया हाल

शत्रुघ्न सिन्हा पर एक दो दिन में हो सकती है कार्यवाई-सूत्र
PM मोदी का महागठबंधन पर करारा हमला
विपक्ष का चेहरा कौन ?
\"राम मंदिर\" नहीं तो BJP क्या चीज है ?
कांग्रेस को VHP ने दिया समर्थन का ऑफर
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की सेहत में सुधार,एम्स से मिली छुट्टी
दाउद की साजिश का पर्दाफाश, ख़ुफ़िया एजेंसी हुई अलर्ट
loading...
">
loading...